एशेज में टीम की कप्तानी करने वाले पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान का निधन

By | 18/07/2020

कोरोना काल के बीच ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट के लिए एक दुखभरी खबर शनिवार को सामने आई। आपको बता दें ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज बैरी जर्मन (Barry Jarman) का 84 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। वे लंबे समय से बीमार थे जिसके चलते उनकी मौत हो गई। इस खबर से निश्चित ही ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों में शोक की लहर है। कानपुर में भारत के खिलाफ बैरी जर्मन ने दिसंबर 1959 में टेस्ट डेब्यू किया था। इस मैच के तीन साल बाद उन्होंने अपना दूसरा टेस्ट खेला था।

बैरी जर्मन का करियर

बैरी जर्मन (Barry Jarman) ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए 10 साल में कुल 19 टेस्ट मैच खेले। फर्स्ट क्लास क्रिकेटर के तौर पर उनका काफी लंबा अनुभव रहा। 13 साल तक घरेलू क्रिकेट खेलने वाले बैरी जर्मन ने साउथ ऑस्ट्रेलिया के लिए 191 फर्स्ट क्लास मैच खेले थे। वहीं, 1959 से लेकर 1969 तक उन्होंने अपनी देश की टीम का प्रतिनिधित्व किया था। इस दौरान वे टीम के कप्तान भी कुछ मैचों में रहे थे, जिसमें एक एशेज सीरीज शामिल है।

8 साल तक वे टीम से अंदर-बाहर होते रहे थे, लेकिन फर्स्ट क्लास क्रिकेट में दमदार प्रदर्शन के दम पर उन्होंने 1967-68 के सीजन में कंगारू टीम के लिए लगातार क्रिकेट खेली थी। इसी दौरान इंग्लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज के एक मैच में उनको टीम का कप्तान भी नियुक्त किया गया था। बैरी एक स्टैंड-इन कैप्टन थे, क्योंकि कप्तान बिल लॉरी को इंजरी हुई थी और वे मैच से बाहर थे।

1969 में खेला आखिरी टेस्ट

बैरी जर्मन (Barry Jarman) ने 1969 में अपना आखिरी टेस्ट मैच एडिलेड में खेला था। इसके बाद साल 1995 में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मैच रेफरी के तौर पर वापसी की थी। 1995 से 2011 तक उन्होंने 25 टेस्ट और 28 वनडे इंटरनेशनल मैचों में मैच रेफरी की भूमिका निभाई। वह ऑस्ट्रेलियाई टीम के 33वें टेस्ट कप्तान बने थे। उनके नाम पर हर सीजन में बैरी जर्मन ट्रॉफी साउथ ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट टीम के मोस्ट इंप्रूव्ड प्लेयर को दी जाती है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *