कोरोना काल के बाद शुरू हो रहे क्रिकेट में दिखेंगे ये 10 बदलाव

By | 07/07/2020

कोरोना महामारी के चलते मार्च के बाद से सभी क्रिकेट की गतिविधियों पर रोक लगी हुई थी। लेकिन जैसे-जैसे दुनिया आगे बढ़ रही है अब चीजें दोबारा से पटरी पर लौटना शुरू हो गई हैं। इसी कड़ी में क्रिकेट की भी शुरुआत 8 जुलाई से इंग्लैंड और वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज से होने जा रही है। हालांकि खेल शुरू हो रहा है लेकिन पहले जैसी कई बातें अब नहीं रहेंगे। स्टैण्ड में दर्शक नहीं होंगे, जश्न मनाने के लिए खिलाड़ी एक दूसरे के साथ हाथ मिलाकर, गले लगाकर जश्न नहीं मनाएंगे। ऐसे ही कई बदलाव होने वाले हैं, आइए नजर डालते हैं होने वाले बदलावों पर ।

1. खाली स्टेडियम

कोरोना वायरस किसी भी चीज को छूने तक से फैलता है। ऐसे में इंटरनेशनल क्रिकेट की बहाली खाली स्टेडियम में होगी और दर्शकों को स्टेडियम में बैठकर मैच देखने की अनुमति नहीं होगी। ये फैसला कोरोना की रोकथाम के लिए किया गया है।

2. हर जगह, हर क्षण सैनिटाइजर का प्रयोग

दूसरा बड़ा बदलाव ये देखने को मिलेगा कि स्टेडियम के कोने-कोने में हैंड सैनिटाइजर की मशीनें लगी होंगी, जहां समय-समय पर खिलाड़ी अपने हाथों को सैनिटाइज कर सकते हैं।

3. ना मिला पाएंगे, ना मिल पाएंगे गले, सूखा जश्न मनेगा

अक्सर देखा जाता था कि गेंदबाज विकेट लेने के बाद अपने साथी खिलाड़ियों के साथ हाथ मिलाते थे या गले लग जाते थे। लेकिन इंग्लैंड और वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज के साथ हो रही क्रिकेट की बहाली के दौरान ऐसा देखने को नहीं मिलेगा। खिलाड़ी एक दूसरे से एल्बो टच करके जश्न मना सकते हैं।

4. फेक क्राउड नॉइज और म्यूजिक

स्टैंड में कोई मौजूद नहीं होगा। ऐसे में खिलाड़ियों के उत्साहवर्धन के लिए फेक क्राउड नॉइज और कई म्यूजिक चलाने का फैसला किया है। इसके अलावा स्टेडियम में बड़े-बड़े स्क्रीन भी नजर आएंगे, जिससे कि टीवी पर लाइव व्यू अच्छा देखने को मिले।

5. लार के इस्तेमाल पर रोक

गेंदबाजों के लिए परेशानी वाली बात ये है कि अब गेंद को चमकाने के लिए लार का प्रयोग नहीं किया जाएगा। भूलवश अगर कोई ऐसा करता है तो उसे पहले वॉर्निंग मिलेगी, लेकिन इससे बार-बार दोहराने की स्थिति में जुर्माना लगाया जाएगा। जबकि गेंद को चमकाने के लिए खिलाड़ी पसीने का इस्तेमाल कर सकते हैं।

6. कोरोना सब्स्टीट्यूट

वर्ल्ड कप 2019 के बाद आइसीसी ने नियम बनाया था कि मैच के दौरान अगर किसी खिलाड़ी को कोई गंभीर चोट आती है तो उसकी जगह दूसरा खिलाड़ी पूरा मैच में खेल सकता है, लेकिन कोरोना को देखते हुए ये फैसला किया गया है कि अगर कोई खिलाड़ी कोरोना के लक्षणों को महसूस करता है तो उसकी जगह दूसरा खिलाड़ी मैच खेल सकता है।

7. आइसीसी वॉर्निंग

स्टेडियम में दर्शकों का शोर नहीं होगा और स्टंप और कई अन्य जगहों पर लगे माइक ऑन होंगे। ऐसे में खिलाड़ियों की आवाज साफ सुनी जा सकती है। इसलिए आइसीसी ने खिलाड़ियों को चेतावनी दी है कि कोई भी इस तरह की भाषा का इस्तेमाल नहीं करेगा, जिससे किसी को परेशानी हो।

8. जैव सुरक्षित वातावरण

खिलाड़ी दुनिया भर के करोड़ों खेल प्रेमियों का मनोरंजन तो करेंगे, लेकिन खुद उनको पूरी सीरीज के दौरान जैव सुरक्षित वातावरण में रहना होगा, जिसमें आपको सिर्फ होटल से स्टेडियम और स्टेडियम से होटल जाने की अनुमति होगी।

9. लोकल अंपायर

ट्रेवलिंग को ध्यान में रखते हुए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने ये भी फैसला किया है कि मेजबान देश अपने यहां के अंपायरों से मैच में अंपायरिंग करा सकता है, लेकिन उस अंपायर को अनुभव होना चाहिए। अगर अंपायर आइसीसी एलीट पैनल का हिस्सा है तो फिर बहुत अच्छी बात है।

10. टीशर्ट पर लोगो

आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में आइसीसी ने खिलाड़ियों को टीशर्ट के पीछे नाम छापने को मंजूरी दी थी, लेकिन अगले एक साल तक जो भी टेस्ट सीरीज होगी उसकी सफेद जर्सी पर सामने बड़ा लोगो देखा जाए सकता है। इसका मकसद ये है कि बोर्ड को जो भी नुकसान हुआ हो वो प्रायोजकों से उसकी भरपाई कर सके।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *