हरभजन सिंह ने 2008 के सिडनी टेस्ट में हुए विवादों को लेकर किया खुलासा

By | 15/06/2020

भारतीय टीम के ऑफ स्पिनर गेंदबाज हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने आकाश चोपड़ा के साथ उनके यूट्यूब चैनेल पर बात करते हुए 2008 में ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में खेले गए टेस्ट मैच को लेकर कई खुलासे किए है। दरसल वह मैच कई कारणों से विवादों में रहा था। उस मैच में खिलाड़ियों की आपसी नोंक-झोंक और मैच के दौरान गलत अंपायरिंग भी देखने को मिले थे।

भज्जी और एंड्रू सायमंड्स के बीच हुए सबसे बड़े विवाद मंकीगेट (Monkey Gate Incident) को याद करते हुए उन्होंने बताया कि “उस समय मैं और सायमंड्स काफी पास खड़े थे और हमारे पास सचिन तेंदुलकर थे। सुनवाई के समय मैथ्यू हेडन, एडम गिलक्रिस्ट, माइकल क्लार्क और रिकी पॉन्टिंग, चारों ने कहा कि हमने भज्जी को सायमंड्स से कुछ कहते सुना है। इस पर मैं सोचने लगा कि जब वो लोग पास में नही थे तो उन्हें कैसे पता यहां तक कि सचिन को भी नहीं पता था कि हुआ क्या है। सिर्फ मैं ओर सायमंड्स ही जानते थे कि क्या हुआ।

भज्जी ने आगे बताया कि उस दौरान मैं विवादों में फंस गया था मेरे खिलाफ सुनवाई हुई मैं बहुत डरा हुआ महसूस कर रहा था और सोच रहा था कि मेरे साथ हो क्या रहा है। मुझे ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने माइकल जैक्सन बना दिया था।

यह भी पढ़े: फ़िल्म निर्माता अरुण पांडे ने बताया कैसे धोनी के किरदार में ढले सुशांत

उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग के बारे में बताया कि वह उस मैच में खुद अंपायर की तरह व्यवहार कर रहें थे। हरभजन ने बताया कि पोंटिंग उस मैच में पकड़ बनाना चाहते थे तथा वह कैच पकड़ने का दावा कर रहे थे और खुद ही उस मैच में निर्णय भी सुना रहें थे। उन्होंने बताया कि ऑस्ट्रेलियाई कहते है कि मैच के दौरान जो हुआ उसे वहीं छोड़ दो लेकिन मेरे और सायमंड्स के बीच का विवाद मैदान के बाहर तक पहुंच गया था।

उस विवाद के बाद भज्जी को तीन टेस्ट के लिए बाहर कर दिया गया था, हालांकि BCCI के प्रोटेस्ट के बाद उन पर से बैन हटा दिया गया और यह साबित हो गया था कि उस मैच में हरभजन ने सायमंड्स के खिलाफ किसी तरह की नस्लीय टिप्पणी नहीं की थी।ऑस्ट्रेलिया ने उस मैच में भारत को 122 रनों से हराया था। इस मैच में सायमंड्स ने 162 रन की पारी खेली थी।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुकट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *