मैच फिक्सिंग पर कानून बनाने के लिए ICC ने भारत सरकार से किया गया अनुरोध

By | 25/06/2020

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) की एंटी करप्शन यूनिट (ACU) के एक वरिष्ठ अधिकारी का मानना है कि भारत में भी मैच फिक्सिंग को अपराध घोषित किया जाना चाहिए। 

ICC के एंटी करप्शन यूनिट (ACU) के कोऑर्डिनेटर (Coordinator) स्टीव रिचर्डसन (Steve Richardson) का मानना है कि,”भारत जैसे देश मे ‘मैच फिक्सिंग’ को अपराध की श्रेणी में रखना सबसे प्रभावित कदम होगा,देश में कड़ा कानून नहीं होने की वजह से क्रिकेट में करप्शन की जांच करते वक्त अधिकारियों के हाथ बंधे रहते हैं।”

बता दे कि,कानूनी विशेषज्ञ भारत में मैच फिक्सिंग को अपराध घोषित करने के लिये कई वर्षों से वकालत कर रहे हैं क्योंकि क्रिकेट में भ्रष्ट गतिविधियों की जांच करते समय संबंधित अधिकारियों के हाथ कानून से बंधे होते हैं।

Espncricinfo से बातचीत के दौरान स्टीव रिचर्ड्सन (Steve Rishardson) ने कहा कि,”अभी कोई कानून नहीं है। हमारे भारतीय पुलिस के साथ अच्छे संबंध हैं, लेकिन उनके भी हाथ बंधे हुए हैं। हम भ्रष्टाचारियों के प्रयासों को नाकाम करने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे और हम उन्हें स्वतंत्र रूप से संचालन नहीं करने देते हैं और जितना संभव हो सकता है, उनका जीना मुहाल करके रखते हैं।’

रिचर्डसन (Steve Richardson) ने यह भी कहा कि, ‘‘भारत में कानून बनने से हालात बदल जाएंगे। अभी हम फिक्सिंग से जुड़े 50 मामलों की जांच कर रहे हैं और इनमें से अधिकतर भारत से जुड़े हुए हैं।आगे उन्होंने कहा कि, ‘‘अगर भारत मैच फिक्सिंग को लेकर कानून बनाता है तो खेल को सुरक्षित करने की दृष्टि से यह सबसे प्रभावी कदम होगा। ’’

उन्होंने यह भी कहा,‘‘ भारत में 2021 में टी-20 वर्ल्डकप और 2023 में वनडे वर्ल्डकप जैसे दो बड़े टूर्नामेंट होने हैं। इस पर सट्टेबाजों की नजर होगी। ऐसे में अगर भारत मैच फिक्सिंग को लेकर कानून बनाता है, तो खेल को सुरक्षित रखने के इरादे से यह असरदार साबित होगा।’’

रिचर्डसन और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) एसीयू (ACU) के प्रमुख अजित सिंह (Ajeet Singh) एक पैनल चर्चा का हिस्सा थे जिसका विषय था ‘क्या भारत में मैच फिक्सिंग को अपराध घोषित करने की जरूरत है। ’’रिचर्डसन ने कहा कि इस तरह का कानून बनने से खिलाड़ियों के बजाय उन भ्रष्ट लोगों को रोका जा सकेगा जो अभी खुले घूम रहे हैं।

यह भी पढ़े:लॉकडाउन के बीच विराट कोहली को सता रही टेस्ट क्रिकेट की याद

उन्होंने कहा कि, ‘मैं कम से कम आठ लोगों के नाम भारतीय पुलिस या भारत सरकार को सौंप सकता हूं जो कि लगातार अपराध करते रहते हैं और मैच फिक्स करने के लिए खिलाड़ियों से संपर्क करने की लगातार कोशिश करते हैं।’

भारतीय पुलिस सेवा के पूर्व अधिकारी अजित सिंह ने भी स्वीकार किया कि मैच फिक्सिंग के लिये कोई उचित कानून नहीं है।उन्होंने कहा, ‘‘ये वे लोग हैं जिनको लेकर मैं चाहूंगा कि उनकी जांच मैच फिक्सिंग कानून के अंतर्गत हो। ’’

रिचर्डसन ने भारत सरकार से मैच फिक्सिंग पर कानून बनाने का आग्रह किया जैसा कि उसके पड़ोसी श्रीलंका ने किया है जो 2019 में भ्रष्ट गतिविधियों को अपराध घोषित करने वाला दक्षिण एशिया का पहला देश बन गया है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *