2005 के भारत दौरे पर दो युवा खिलाड़ियों से सीनियर खिलाड़ियों को मिला सबक: इंज़माम उल हक

By | 27/06/2020

इंजमाम उल हक (Inzamam-Ul-Haq) की गिनती पाकिस्‍तान क्रिकेट के दिग्‍गज बल्‍लेबाजों और कप्‍तानों में की जाती है। उनकी कप्तानी में ही पाकिस्‍तानी टीम ने वर्ष 2005 में भारत का दौरा किया था और भारतीय टीम के मजबूत होने के बावजूद टेस्‍ट सीरीज 1-1 से बराबर रखने में कामयाबी हासिल की थी।

2005 में मोहाली में खेले जा रहे टेस्ट मैच को लेकर पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने खुलासा किया है कि कैसे दो युवा खिलाड़ियों ने उन्हें और बाकी सीनियर खिलाड़ियों को सबक सिखाया था।

पाकिस्तान उस मैच में मुश्किल स्थिति में था, 50 रन की लीड के साथ पाकिस्तान ने छह विकेट गंवा दिए थे। एक समय ऐसा लग रहा था कि आखिरी दिन भारत यह मैच आसानी से जीत लेगा, लेकिन पाकिस्तान की ओर से दो युवा खिलाड़ियों ने जबरदस्त प्रदर्शन किया। अब्दुल रज्जाक (Abdul Razzaq) और कामरान अकमल (Kamran Akmal) ने करीब 200 रनों की साझेदारी निभाई और टीम इंडिया को जीतने नहीं दिया।

यह भी पढ़े: कोरोना टेस्ट विवाद के बीच पूर्व कप्तान ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर लगाए गंभीर आरोप

उन्होंने आगे कहा कि उस मैच में अकमल (Kamran Akmal) ने जबरदस्त सेंचुरी ठोकी थी, जबकि अब्दुल रज्जाक (Abdul Razzaq) ने 70 रन बनाए थे। इंजमाम ने बताया कि इन दोनों की बल्लेबाजी ने मुझे, यूनिस खान (Younis Khan) और मोहम्मद युसूफ (Mohammad Yousuf) जैसे सीनियर क्रिकेटरों को सोचने पर मजबूर कर दिया था।

इंजमाम उल हक (Inzamam-Ul-Haq) ने कहा कि, “जब जूनियर क्रिकेटर्स अच्छा करते हैं तो सीनियर क्रिकेटर्स सोचने पर मजबूर हो जाते हैं, जब ये कर सकता है तो हम क्यों नहीं। यह क्रिकेट में कई बार हुआ है। हम 2005 में मोहाली में खेल रहे थे, जहां रज्जाक (Abdul Razzaq) और कामरान अकमल (Kamran Akmal) ने मिलकर साझेदारी निभाई थी और हमारे लिए टेस्ट मैच बचाया था।”

उस वक़्त मैं यूनिस खान (Younis Khan) और मोहम्मद युसूफ (Mohammad Yousuf) ड्रेसिंग रूम में बैठ कर उनकी बैटिंग देख रहे थे और हमने सोचा जब जूनियर क्रिकेटर्स इस तरह लड़ सकते हैं तो हम क्यों नहीं। मोहाली टेस्ट ड्रा खेलने के बाद दोनों टीम दूसरा टेस्ट मैच खेलने के लिए कोलकाता पहुंची।दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया ने शानदार जीत दर्ज कर सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई थी। 

इस सीरीज का तीसरा और अंतिम टेस्‍ट बेंगलोर में होना था और पाकिस्‍तान के सामने सीरीज बचाने की चुनौती थी। इंजमाम ने बताया कि, “इस टेस्‍ट के दौरान मुझ पर दबाव इसलिए और बढ़ गया था क्‍योंकि मेरे 100वें टेस्‍ट को देखने के लिए मेरे पिता खासतौर पर बेंगलोर आए थे।” इस टेस्‍ट में इंजमाम (Inzamam-Ul-Haq) और यूनुस खान (Younis Khan) ने शतक लगाए। चौथी पारी में बल्‍लेबाजी करते हुए भारतीय टीम बिखर गई और पाकिस्‍तान ने टेस्‍ट मैच जीतकर सीरीज बराबर कर ली।

बता दे कि, पिछले कुछ सालों भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक संबंध अच्छे नहीं हैं और इसी के चलते दोनों टीमों के बीच द्विपक्षीय सीरीज खत्म हो चुकी है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *