अपने डेब्यू मैच में शतक ठोंकने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सचिन तेंदुलकर

By | 26/06/2020

आज के ही दिन 1999 में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दिग्गज बल्लेबाज और पूर्व कप्तान मिताली राज ने( Mithali Raj ) ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया था। और अपने डेब्यू मैच में ही उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ नाबाद 114 रनों की पारी खेलकर तहलका मचा दिया था।अगर मिताली राज को भारतीय महिला क्रिकेट की सचिन तेंदुलकर कहा जाए तो इसमें कोई बुराई नहीं होगी।

मिताली ( Mithali Raj ) ने भी सचिन तेंदुलकर(Sachin Tendulkar) की तरह 16 साल की उम्र में भारत के लिए वनडे क्रिकेट खेलना शुरू किया था।अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मिताली राज का अपना वजूद है, लेकिन कुछ चीजें ऐसी हैं, जो उनको खास बनाती हैं। उन्होंने एकदिवसीय मैचों में लगातार 7 अर्धशतक बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर भी हैं।मिताली से आगे जावेद मियांदाद(Javed Miandad) एकमात्र खिलाड़ी हैं, जिन्होंने लगातार 9 अर्धशतक बनाए।

मिताली( Mithali Raj )एकमात्र खिलाड़ी (पुरुष या महिला) हैं जिन्होंने एक से अधिक आईसीसी एकदिवसीय विश्व कप फाइनल में भारत की कप्तानी की है।उन्होंने 2017 और 2005 में दो बार ऐसा किया है।वह प्रथम भारतीय और ओवरआल 5वीं महिला क्रिकेटर हैं, जिन्होंने विश्व कप में 1,000 से अधिक रन बनाए हैं।

मिताली(Mithali Raj) ने जब प्रथम बार अंतराराष्ट्रीय टेस्ट मैच का आगाज किया तो वह बिना कोई रन बनाए पवेलियन की ओर लौट गई थी। लेकिन उसने अपने कैरियर में अपनी मेहनत के दम पर आगे बढ़कर दिखाया और अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट में आज तक का सर्वाधिक स्कोर 214 रन बना कर कीर्तिमान स्थापित किया। यह रिकॉर्ड उन्होंने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेलते हुए 2002 में बनाया। यह महिला क्रिकेट का सर्वाधिक रन रिकॉर्ड है।

मिताली( Mithali Raj )ने 209 अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैचों में 50.64 की औसत से 6,888 रन बनाए हैं जिसमें 7 शतक और 53 अर्द्धशतक शामिल हैं. वनडे में; मिताली का सर्वोच्च स्कोर नाबाद 125 रन है।मिताली राज ने वनडे में 8 विकेट लिए हैं और 53 कैच भी लिए हैं। और 10 टेस्ट मैचों की 16 पारियों में 51 की औसत से 663 रन बनाए हैं जिसमें एक दोहरा शतक (214), एक शतक और 4 अर्धशतक शामिल हैं।

यह भी पढ़े:केएल राहुल ने किया खुलासा- “IPL में गेल ने दी थी राशिद को खत्म करने की धमकी”

मिताली(Mithali Raj)एकमात्र महिला क्रिकेटर हैं, जिन्होंने भारत की तरफ से खेलते हुए टी-20 में 37 की औसत से सबसे अधिक 2364 रन बनाए हैं।हालांकि उन्होंने अब टी-20 क्रिकेट से संन्यास ले लिया है।भारतीय महिला टीम को आगे ले जाने में मिताली राज की अहम भूमिका रही है।

क्रिकेट को पुरुषों का खेल माना जाता रहा है लेकिन मिताली राज(Mithali Raj) जैसी महिला क्रिकेटरों ने इस मिथक को तोड़ कर रख दिया है।मिताली ने क्रिकेट की दुनिया में कई कीर्तिमान स्थापित कर देश और खुद के लिए बहुत नाम और प्रसिद्धि अर्जित की है।उम्मीद है कि मिताली राज देश के लिए टेस्ट और एकदिवसीय मैच खेलती रहेंगी और नए कीर्तिमान स्थापित करतीं रहेंगीं।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *