18 June: टीम इंडिया को पाकिस्तान से मिला वो दर्द, जिसे वो कभी नहीं भूल पाएगी

By | 18/06/2020

तीन साल पहले आज ही के दिन ऐसा कुछ हुआ जो क्रिकेट के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ। 18 जून 2017 को टीम इंडिया (Team India) आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी (ICC Champions Trophy) का फाइनल मैच अपने चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से खेल रही थी। वैसे तो भारत और पाकिस्तान (India Vs Pakistan) का मैच एक आम मुकाबला नहीं होता। ये एक तरह की जंग होती है जो कि 22 गज की पट्टी और 70 गज के मैदान पर लड़ी जाती है और ऐसी ही जंग 2017 में लड़ी जा रही थी। फाइनल मैच में भारत और पाकिस्तान (Pakistan cricket Team) आमने सामने थे और दांव पर थी चैंपियंस ट्रॉफी, जिसे पाकिस्तान ने सभी को चौंकाते हुए जीत लिया था।

टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनना पड़ा टीम इंडिया को भारी…

18 जून 2017 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी (ICC Champions Trophy) के फाइनल में विराट कोहली (Virat kohli) की कप्तानी में टीम इंडिया उतरी थी। भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat kohli)ने टॉस जीतने के बाद फील्डिंग चुन ली, जिसका फायदा विरोधी पाकिस्तान को मिल गया। पाकिस्तान के ओपनर फखर जमां ( Fakhar Zaman) और अजहर अली (Azhar Ali) ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए पहले विकेट के लिए 128 रन जोड़े और अपनी टीम को एक सधी हुई शुरुआत दी। पाकिस्तान का पहला विकेट 23वें ओवर में गिरा, अजहर अली 59 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद बाबर आजम (Babar Azam)ने 46 रनों की पारी खेली। मोहम्मद हफीज (Mohammad Hafeez) ने नाबाद 57 रन बनाए। इस सभी बल्लेबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन पाकिस्तान के हीरो बने फखर जमां (Fakhar Zaman), जिन्होंने महज 106 गेंदों पर 114 रन ठोके।

यह भी पढ़ें: बर्थडे स्पेशल: ऑलराउंडर मोईन अली के 5 सबसे शानदार प्रदर्शन पर एक नज़र

पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 338 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। इस मैच में भारतीय गेंदबाजों ने पाक के बल्लेबाजों के सामने घुटने टेंक दिए थे। ये मैच भारत बनाम पाकिस्तान के इतिहास का सबसे कांटेदार मैच था। इस मैच से पहले का इतिहास कुछ और था , टीम इंडिया ने शायद ही कभी फाइनल में पाकिस्तान के हाथों हार का स्वाद चखा हो लेकिन लंदन के ओवल मैदान पर खेले गए इस मैच में सारा इतिहास धरा का धरा रह गया और विराट कोहली (Virat Kohli) कप्तानी की अपनी पहली बड़ी परीक्षा में फ्लॉप हो गए थे।

धराशाही हुए टीम इंडिया के धुरंधर…

गेंदबाज तो कुछ खास कमाल कर न सके तो लोगों को भारत के धाकड़ बल्लेबाजों से काफी उम्मीद थी लेकिन यहां भी भारत को निराशा हाथ लगी। कहने को टीम इंडिया के पास रोहित शर्मा (Rohit Sharma), शिखर धवन (Shikhar Dhawan), विराट कोहली (Virat Kohli), एमएस धोनी (MS Dhoni) और युवराज सिंह (Yuvraj Singh) जैसे बल्लेबाज थे लेकिन ये गजब की बैटिंग लाइनअप भी इस खिताबी मुकाबले में काम नहीं आई। तीसरी ही गेंद पर रोहित शर्मा को 0 रन पर मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) ने पवेलियन वापस भेज दिया। हिटमैन के साथ-साथ कोहली भी आमिर का शिकार बने और 5 रन पर निपट गए। इसके बाद आमिर ने शिखर धवन को भी 21 रनों पर पैवेलियन की राह दिखा दी।

बचेखुचे बल्लेबाजों ने भी कुछ खास खेल नहीं दिखाया। युवराज सिंह 22, एमएस धोनी 4 और केदार जाधव 9 रन बनाकर निपट गए। हार्दिक पंड्या से कुछ उम्मीद जगी थी क्योंकि उन्होंने जरूर 6 छक्के और 4 चौके जड़ 43 गेंदों में 76 रन बनाए लेकिन ये पारी हिंदुस्तान की हार नही टाल सकी। नतीजा टीम इंडिया (Team India) महज 158 रनों पर ढेर हो गई और उसने 180 रनों से मैच गंवा दिया।

आईसीसी टूर्नामेंट में भारत की सबसे बड़ी हार …

2017 में पाकिस्तान ने भारत को फाइनल में हराकर नया इतिहास रचा और चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम की। भारतीयों को टीम इंडिया की ये हार इसलिए हमेशा खटकेगी क्योंकि ये किसी भी आईसीसी टूर्नामेंट में भारत की सबसे बड़ी हार है। इससे पहले उसने साल 2003 वर्ल्ड कप का फाइनल 125 रनों से गंवाया था।

पाकिस्तान ने रचा था इतिहास….

पाकिस्तान (Pakistan cricket Team) ने भारत को हराते हुए चैंपियंस ट्रॉफी के खिताब पर कब्जा किया। फखर जमान को प्लेयर ऑफ द मैच और हसन अली को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था।पाकिस्तान ने ये टूर्नामेंट जीतकर इतिहास रचा था क्योंकि साल 1992 के बाद पहली बार पाकिस्तान 50 ओवर का कोई आईसीसी टूर्नामेंट जीता था।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *