राजस्थान रॉयल्स की युवा क्रिकेटर्स के लिए मुहिम, डिजिटल एप से मिलेगी कोचिंग

By | 27/08/2020

कोरोना संकट के बीच क्रिकेट फैन्स को थोड़ी राहत मिली है। इंडियन प्रीमियर लीग की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। वहीं इस पूरी कवायद के बीच खबरों में है इंडियन प्रीमियर लीग की टीम राजस्थान रॉयल्स…। राजस्थान रॉयल्स वर्चुअल कोचिंग शुरू करने वाली इंडियन प्रीमियर लीग की पहली फ्रेंचाइजी टीम बन चुकी है।

राजस्थान रॉयल्स की तरफ से डिजिटल क्रिकेट एकैडमी एप्लीकेशन तैयार की गई है। इस एप्लीकेशन का नाम ‘द पवेलियन-व्हेयर प्लेयर मीट्स कोच’ रखा गया है। इस एप की शुरुआत एक खास मकसद से की गई है। दरअसल इस एप्लीकेशन की लॉन्चिंग का मकसद सभी देशों के और सभी उम्र वाले क्रिकेटर्स के स्किल्स को निखारना है। भले ही वो क्रिकेटर प्रोफेशनल हो या फिर एंटरटेनमेंट के लिए क्रिकेट खेलता हो।

इस एप्लीकेशन को यैलो पैंथर टेक्नॉलाजी प्राइवेट लिमिटेड ने तैयार किया है। इस एप को मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है और ये एंड्रोएड और आईओएस दोनों प्लेटफॉर्म पर मिलेगा। ये एप युवा क्रिकेटरों के लिये एक खास पहल पर देखी जा रही है। इस एप के जरिए राजस्थान रॉयल्स के ‘फर्स्ट-टीम’ कोच सीधा फीडबैक मिल सकेगा। इन कोच में अमोल मजूमदार, साईराज बहुतुले, दिशांत याग्निक और स्टुफान जोन्स जैसे नाम शामिल हैं। तो साफ है कि अगर ऐसे दिग्गज इन युवा क्रिकेटर्स को फीडबैक देंगे तो उन्हें खेल सुधारने में कितनी मदद मिलेगी।

राजस्थान रॉयल्स के प्रबंधन की तरफ से कहा गया है कि इस डिजिटल शुरूआत के जरिये हमारा लक्ष्य सभी क्रिकेटरों और दुनिया भर के युवाओं में सीखने का नया आयाम खोलना है। डिजिटल एकैडमी से मिलने वाली पहले महीने की राशि को रॉयल्स राजस्थान फाउंडेशन को दान दिया जायेगा। दरअसल राजस्थान रॉयल की टीम सबसे पहले यूएई पहुंचीं थी जिसके बाद से कोविड नियमों के तहत ये टीम क्वारंटीन में थी। जानकारी के मुताबिक राजस्थान रॉयल्स के सभी खिलाड़ियों के कोविड टेस्ट किए जा चुके हैं और सभी खिलाड़ियों और स्टाफ की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अब राजस्थान रॉयल्स की टीम मैदान में प्रैक्टिस की तैयारी कर रही है। वहीं देखने वाली बात होगी कि इस एप्लीकेशन से क्रिकेट में करियर बनाने की चाह रखने वाले युवाओं को कितना फायदा मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *