महिला टी20 वर्ल्ड कप के लिए चुने जाने पर ऋचा घोष ने कहा, सोचा नहीं था यह सब इतनी जल्दी होगा

बंगाल की 16 वर्षीय ऑलराउंडर ऋचा घोष का महिला टी20 वर्ल्ड कप के लिए घोषित भारतीय टीम में जगह मिली गई है। ऋचा को उनके हार्ड हिटिंग क्षमता को देखते हुए टीम में जगह मिली है। इतनी जल्दी भारतीय टीम तक सफर तय करना उनके लिए सपने जैसा है।

ऋचा घोष ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) से बात करते हुए हुए कहा कि, “मैंने कभी नहीं सोचा था कि यह सब इतनी जल्द होगा। इस पर विश्वास करना मुश्किल हैं और मैं अब तक इस अहसास से उबर नहीं पाई हूं।”

ऋचा घोष महेंद्र सिंह धोनी के छक्के जड़ने की तकनीक की बहुत बड़ी फैन हैं। लेकिन क्रिकेट के लिए अपने पिता को अपना आदर्श मानती हैं। उनके पिता मानबेन्दर घोष बंगाल क्रिकेट के अंपायर हैं। उनके अलावा वे सचिन तेंदुलकर को भी अपना आदर्श मानती है। 

उन्होंने इसके बारे में बात करते हुए कहा, ”मेरे पहले आदर्श हमेशा मेरे पिता रहे जिनसे मैंने क्रिकेट सीखा। इसके बाद सचिन तेंदुलकर जो हमेशा मेरे आदर्श रहेंगे। लेकिन जब छक्के जड़ने की बात आती है तो मैं महेंद्र सिंह धोनी की फैन हूँ।”

ऋचा ने कहा, ”वह (धोनी) जिस तरह छक्के मारते हैं वह मुझे पसंद है और मैं भी ऐसा ही करने का प्रयास करती हूं। गेंदबाज चाहे कोई भी हो, जब आपके हाथ में बल्ला होता है तो आप कुछ भी कर सकते हो।”

बंगाल की टीम में ऋचा को उनकी कप्तान झूलन गोस्वामी का भरपूर समर्थन मिलता है, जबकि वह क्रिकेट के तकनीक के लिए रिद्धिमान साहा के साथ बात करती हैं। साहा उनके ही जिले सिलिगुड़ी के रहने वाले हैं।

उन्होंने कहा, ”झूलन (गोस्वामी) दी ने हमेशा टीम में मेरा समर्थन किया जबकि रिद्धि दा (साहा) से मुझे हमेशा मदद मिली। वह व्यस्त रहते हैं लेकिन हम बात करते रहते हैं। मैं समर्थन के लिए उनकी, अपने कोचों और बंगाल क्रिकेट संघ की आभारी हूं।”

खेल के प्रति की गंभीरता को देखते हुए ऋचा के पिता मानबेन्दर घोष ने उन्हें सिलीगुड़ी के ही बाघा जतिन क्लब में उसे भेजना शुरू किया। तब वे क्लब में एकमात्र लड़की थी। ऋचा को 2012-13 में उन्हें बंगाल की सीनियर टीम के कैम्प में बुलाया गया।

बंगाल की महिला टीम के कोच शिव शंकर पाल ने कहा, ”किसी भी कोच के लिए उसका होना शानदार है, वह प्रतिभा भगवान से तोहफे में मिली है। लेकिन वह काफी युवा है और हमें सुनिश्चित करना होगा कि वह लंबा रास्ता तय करे।”
इसके अलावा बंगाल के ट्रेनर और विकेटकीपिंग कोच राहुल देब ने ऋचा के बारे में बात करते हुए कहा कि वह आसानी से छक्के जड़ सकती है और शानदार क्षेत्ररक्षक भी है। (Interview Source: PTI)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *