ENG vs WI, 1st Test: दोनों टीमों का SWOT एनालिसिस

By | 06/07/2020

कोरोना के कारण लगभग 4 महीने के लंबे अंतराल के बाद क्रिकेट ने एक बार फिर मैदान पर वापसी कर ली है। इंग्लैंड और वेस्ट इंडीज के बीच होने वाले टेस्ट सीरीज का पहला मैच 8 जुलाई को होने जा रहा है। दोनों टीमें अपनी अपनी तैयारियों के साथ मैदान में उतरने वाली हैं।

वेस्टइंडीज की कप्तानी जेसन होल्डर (Jason Holder) कर रहे हैं वही इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स हैं क्योंकि इंग्लैंड के टेस्ट मैच कप्तान जो रूट (Joe root) अपने निजी कारणों से नहीं खेल पाएंगे। दोनों ही टीमों के खेल में उनकी कुछ मजबूतियां और कुछ कमजोरियां शामिल हैं।इसके साथ उन्हें कौन सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है और किस प्रकार के अवसर उनके लिए मौजूद रहेंगे यह नीचे हम आपको बताएंगे।

मजबूती –

अगर दोनों टीमों की तुलना की जाए तो वेस्टइंडीज और इंग्लैंड दोनों की ही पास बेहतरीन खिलाड़ी हैं। कप्तान जेसन होल्डर, केमार रोच (Kemar Roach), शेनॉन गैबरियल (Shannon Gabriel), और अल्ज़र्री जोसेफ (Alzarri Joseph) जैसे खतरनाक गेंदबाजों के साथ वेस्टइंडीज की टीम बॉलिंग में अपना सानी नहीं रखती। हालांकि यह उस टीम के मुकाबले कुछ भी नहीं है जो 70 80 के दशक में वेस्टइंडीज की टेस्ट क्रिकेट टीम हुआ करती थी। लेकिन 2018 के बाद से लगातार टेस्ट क्रिकेट में यह गेंदबाज अपना बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। 2017 में राष्ट्रीय टीम में वापस आए केमार रोच मात्र 19 टेस्ट मैच में 71 विकेट चटका चुके हैं।

अगर यही इंग्लैंड की बात करेंगे तो यह टीम भी पीछे नहीं है। तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) 21 टेस्ट मैचों में 100 से ज्यादा विकेट ले चुके हैं। इतना ही नहीं वेस्टइंडीज के टॉप ऑर्डर बल्लेबाजों को एंडरसन न जाने कितनी बार आउट कर चुके हैं। वही स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) भी वेस्टइंडीज के टेस्ट क्रिकेट बैट्समैन जेसन होल्डर और शेन डोरिच (Shane dowrich) को तीन बार डिस्मिस कर चुके हैं।

कमजोरी –

वेस्टइंडीज टीम के लिए स्थिति दुविधाजनक हो सकती है अगर टॉप ऑर्डर बल्लेबाज रन बनाने में नाकामयाब रहे तो। क्योंकि पिछले कुछ सालों में लगातार 1,2,3,4 पर उतरने वाले बल्लेबाज ज्यादा अच्छा रन रेट नहीं दिखा पाए हैं। अगर टॉप 4 बल्लेबाजों का रन एवरेज निकाला जाए तो 21.23 ही बैठता है जो कि शीर्ष 10 देशों में सबसे कम है। यह भी देखने में रहा है कि 5,6 और 8 नंबर पर उतरने वाले बल्लेबाजों ने इन बल्लेबाजों से ज्यादा अच्छा प्रदर्शन किया है और उनका रन एवरेज 30 के करीब है।

वेस्टइंडीज को जहां बल्लेबाजों से मात खानी पड़ सकती है वहीं इंग्लैंड के लिए तेज गेंदबाज परेशानी का कारण बन सकते हैं। हालांकि इंग्लैंड की टीम गेंदबाजों से ज्यादा तेज गेंदबाजों पर निर्भर रहती है लेकिन अगर तेज गेंदबाज विकेट दिला पानी में कामयाब नहीं रहते इंग्लैंड के पास सिर्फ इकलौते खिलाड़ी डोमिनिक बेस (Dominic Bess) बचते हैं जो कि अनुभवी नहीं हैं। उन्होंने अभी तक सिर्फ 4 टेस्ट मैच खेले हैं। इसके अलावा अनुभवी कप्तान जो रूट की गैरमौजूदगी भी इंग्लैंड के लिए समस्या बन सकती है।

अवसर –

हर मैच के साथ खिलाड़ी खुद को निखारते हैं और हर टीम के लिए सीरीज एक बेहतर अवसर होती है। वेस्टइंडीज के खिलाड़ी शेन डोरीच के लिए अपना प्रदर्शन बरकरार रखने का यह अच्छा मौका है। कप्तान जैसन होल्डर के साथ शेन भी मिडिल ऑर्डर में खेलते हैं और दोनों ही खिलाड़ियों का एवरेज 30 से ऊपर रहा है। ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही है कि इस टेस्ट मैच में भी यह दोनों कुछ नए रिकॉर्ड बना पाएंगे।

इंग्लैंड के लिए देखा जाए तो बेन स्टोक्स के लिए यह पहला मौका है। जो रूट की मौजूदगी में वह पहली बार साउथेंप्टन (Southampton) में किसी टेस्ट मैच की कप्तानी कर रहे हैं और यहां से उन्हें समझ आ सकेगा कि वे इसके लिए कितने उपयुक्त हैं। दर्शकों और चयनकर्ताओं को भी उन्हें टेस्ट कप्तान के तौर पर देखने में खुशी होगी। इसके अलावा उनके पास मौका है कि वह इस में बेहतरीन प्रदर्शन अगर दिखाते हैं तो आगे उन्हें लिमिटेड ओवर के कप्तान इयोन मोरगन (Eoin Morgan) की जगह भी देखा जा सकता है। ज्ञात हो कि इयोन 34 वर्ष के हो चुके हैं और ऐसी संभावना है कि वह जल्दी ही सन्यास ले लें।

चुनौतियां –

वेस्टइंडीज के ओपनिंग‌ बैट्समैन क्रैग ब्रेथवेट (Kraigg brathwaite) और जॉन कैंबेल (John Campbell) का प्रदर्शन न सिर्फ पिछले मैचों में खराब रहा था बल्कि अभ्यास मैचों में भी उनका प्रदर्शन खासा अच्छा नहीं रहा वह लगातार 0, 49 और 4 पर आउट हुए। ऐसे में अगर मैच में भी अच्छा प्रदर्शन नहीं होता तो वेस्टइंडीज के सामने एक अच्छे शिखर को छूने की चुनौती सामने है।

दूसरी तरफ इंग्लैंड के शीर्ष चार खिलाड़ी रोरी बर्नस (Rory Burns) , डोम सिब्ले (Dom Sibley) , ज़क क्रॉले (Zak Crawley) , और जो डेनली (Joe Denly) बहुत ज्यादा अनुभवी नहीं हैं। कुल 39 टेस्ट उन्होंने खेलें हैं। ऐसे में वेस्टइंडीज के अनुभवी गेंदबाजों के सामने टिक पाना मुश्किल है।

एक लंबे अंतराल के बाद सभी क्रिकेट फैंस उम्मीद कर रहे हैं कि बदले हुए नियमों के साथ यह सीरीज अच्छे से खत्म हो और क्रिकेट का परंपरागत रूप उन्हें इसमें देखने को मिले।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *