चोट की वजह से अपना आत्मविश्वास खो बैठे थे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज टिम पेन

By | 12/07/2020

ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन (Tim Paine) ने हाल ही में खुलासा किया है कि उनके करियर में एक समय ऐसा भी आया था जब वह क्रिकेट से नफरत करने लगे थे। उन्होंने बताया कि खेल मनोवैज्ञानिको ने उनकी उस स्थिति से बाहर निकलने में मदद की थी।

पेन को एक चैरिटी मैच के दौरान दाएं हाथ की अंगुली में चोट लगी थी। जिससे उनकी अंगुली टूट गई थी। चोट से उबरने के लिए पेन को सात बार सर्जरी करनी पड़ी जिसमें उन्हें आठ पिन,धातु की एक प्लेट और कूल्हे की हड्डी के एक टुकड़े का सहारा लेना पड़ा था। इसके कारण वह दो सत्र तक क्रिकेट से दूर भी रहे थे।

पेन ने ‘बाउंस बैक पोडकास्ट पर बातचीत के दौरान कहा कि, ”जब मैंने फिर से खेलना और प्रशिक्षण शुरू किया तो मैं बहुत बुरा नहीं कर रहा था। जब मैंने तेज गेंदबाजों का सामना करना शुरु किया तब मेरा ध्यान गेंद को मारने से ज्यादा अंगुली को बचाने पर रहता था। जब गेंदबाज रनअप शुरू करते थे तब मैं प्रार्थना करता था कि ईसा मसीह (जीसस क्राइस्ट) मुझे उम्मीद है कि वह मुझे अंगुली पर नहीं मारेंगे।”

उन्होंने कहा, ‘यहां से मेरे खेल में गिरावट आने लगी। मैंने बिलकुल आत्मविश्वास खो दिया था। मैंने इसके बारे में किसी को नहीं बताया। सच्चाई यह है कि मैं चोटिल होने से डर रहा था और मुझे नहीं पता था कि मैं क्या करने जा रहा हूं।’ पैंतीस साल के इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा कि इस संघर्ष ने उनके निजी जीवन को भी प्रभावित किया था।

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने बताया कि, ‘मुझे नींद नहीं आ रही थी, मैं ठीक से खा नहीं पा रहा था। मैं खेल से पहले इतना घबरा गया था, मुझ में कोई ऊर्जा नहीं थी। इसके साथ जीना काफी भयानक था। मैं हमेशा गुस्से में रहता था और उसे दूसरे पर निकालता था।’ उन्होंने कहा, ‘किसी को मेरे संघर्ष के बारे में पता नहीं था। मेरी पार्टनर को भी नहीं, जो अब मेरी पत्नी भी है। ऐसा भी समय था कि जब वह मेरे साथ नहीं थी तब मैं काउच पर बैठ कर रोता था। यह अजीब और दर्दनाक था।’

यह भी पढ़े:B’day Special- एक ऐसा गेंदबाज जिसे कभी नहीं मिला 2011 विश्व कप की जीत में क्रेडिट

इसके बाद उन्होंने क्रिकेट तस्मानिया में एक खेल मनोवैज्ञानिक से संपर्क किया जिसका सकारात्मक असर पड़ा। पेन ने कहा, ‘‘पहली बार मैं उसके साथ केवल 20 मिनट के लिए बैठा और मुझे याद है कि उस कमरे से बाहर निकलना तो मैं बेहतर महसूस कर रहा था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इससे उबरने का पहला कदम यही था कि मुझे अहसास हुआ कि मुझे मदद की जरूरत है। इसके छह महीने बाद मैं पूरी तरह ठीक हो गया था।’’ 

35 वर्षीय टिम पेन ने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से 31 टेस्ट और 35 वनडे मैच खेले है। इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 31.69 की औसत से 1331 रन तथा एकदिवसीय मैच में 27.81 की औसत से 890 रन बनाए है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *