फ्लिंटॉफ को उन्हीं के अंदाज में जवाब देने के लिए गांगुली ने 2002 नेटवेस्ट सीरीज में उतारी थी टीशर्ट

By | 08/07/2020

8 जुलाई 1972 को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में जन्में टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) आज अपना 48वां जन्मदिन मना रहे हैं। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी गांगुली किसी न किसी तौर पर क्रिकेट से जुड़े रहे हैं। पहले बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन तो अब वर्तमान में वह BCCI के अध्यक्ष हैं।

दरअसल, सौरव गांगुली (Sourav Ganguly), वह नाम है, जिसने भारतीय क्रिकेट को लड़ना सिखाया, टीम जब मैच फिक्सिंग जैसे गंभीर आरोपों से घिरी हुई थी तब कप्तानी संभाली और खिलाड़ियों में नया जोश भरा। टीममेट्स पर भरोसा जताने जैसी खासियतों ने भारतीय क्रिकेट को कई बड़े खिलाड़ी दिए।

वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag), युवराज सिंह (Yuvraj Singh), जहीर खान (Zaheer Khan) , महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) जैसे टीम इंडिया के कई ऐसे सितारे खिलाड़ी आज गांगुली की ही देन है। 

सौरव गांगुली ने इंग्लैंड के ऐतिहासिक लॉर्ड्स के मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल मैच में जीत हासिल करने के पश्चात लॉर्ड्स की बालकनी में उनका टी शर्ट उतारकर लहराने लगे थे। जिसके बारे में खुद सौरव ने खुलासा किया कि आखिर क्यों उन्होंने टी शर्ट उतारी थी। 

सौरव ने अपनी आत्मकथा ‘ए सेंचुरी इज नॉट इनफ’ में इसका जिक्र करते हुए लिखा है कि, साल 2002 के नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल मैच में जीत को लेकर टीम काफी उत्साहित थी। और जैसे ही जहीर खान (Zaheer Khan) ने विनिंग शॉट लगाया मैं अपने आपको रोक नहीं सका और टी-शर्ट उतारकर लहराने लगा। हालांकि गांगुली ने कहा कि जीतने के बाद टी-शर्ट उतारकर सेलिब्रेट करना सही नहीं था। जीत का जश्न मनाने के और भी कई तरीके थे।

दरसल गांगुली ने बताया है कि ‘ये एंड्रयू फ्लिंटॉफ को जवाब देने का तरीका था। इंग्लैंड ने जब मुंबई में सीरीज जीती थी तो फ्लिंटॉफ ने चिढ़ाने के लिए शर्ट उतारकर मैदान का चक्कर लगाया था। इसके बाद लॉर्ड्स में फाइनल मुकाबला जीतने के बाद मैंने भी कुछ ऐसा ही किया।

यह भी पढ़े:एस.श्रीसंत ने चुनी अपनी बेस्ट प्लेइंग 11 इंडिया टीम

मगर इसके बाद मुझे काफी पछतावा हुआ और मुझे आज तक इस बात का अफसोस है। लेकिन क्रिकेट का जुनून मुझ पर इस कदर हावी था कि मैंने फ्लिंटॉफ को उन्हीं के अंदाज में जवाब देना बेहतर समझा। गांगुली बोले कि कई लोगों ने मुझसे पूछा कि आप शर्ट लहराते समय क्या बोल रहे थे, क्या आप उन्हें गाली दे रहे थे। मैंने बताया कि मैं कह रहा था, ‘मेरा भारत महान’।

गांगुली ने अपने क्रिकेट करियर में 113 टेस्ट और 311 वनडे मैच खेले है।इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 7212 रन,तथा वनडे में 11363 रन बनाए है। इसके साथ ही उन्होंने अंतराष्टीय क्रिकेट में 132 विकेट भी अपने खाते में डाले।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *