फिर से क्रिकेट शुरू हो, हम सलाइवा बैन से भी निपट लेंगे: उमेश यादव

By | 19/06/2020

कोरोना महामारी (Covid- 19) के चलते अनिश्चित काल के लिए लगा लार (Saliva Ban) पर बैन बहस का मुद्दा बन चुका है। दरअसल इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने कोरोनावायरस (Covid- 19) खतरे के कारण गेंद को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल पर प्रतिबंध (Ban on Saliva) लगा दिया है। अब इस विषय पर अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव (Umesh Yadav) ने अपनी राय रखी है। उनका मानना है कि क्रिकेट शुरू होने के बाद इसका हल निकाल लिया जाएगा।

सलाइवा बैन से भी निपट लेंगे…

एक साक्षात्कर में उमेश यादव (Umesh Yadav) ने बताया कि वह मैदान पर ट्रेनिंग शुरू होने के बाद इसका समाधान निकालने को लेकर आश्चस्त है। उन्होंने कहा “हां, लार के बिना अचानक फिर से खेल शुरू करना मुश्किल होगा। हमने अब तक अभ्यास शुरू नहीं किया है।”

उमेश यादव (Umesh Yadav) ने कहा ,”एक बार जब मैं मैदान पर उतर जाउं और लार के इस्तेमाल के बिना खेलने का अभ्यास शुरू कर दूं तो फिर मुझे पता चलेगा कि इसका क्या असर है। पुरानी गेंद के साथ यह अब भी ठीक है, लेकिन नई गेंद के साथ..मुझे नहीं पता कि लार को हटाने के बाद यह कितना चमकेगी।”

यह भी पढ़ें: 2019 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ PAK ने की थी बड़ी गलती: वकार यूनुस 

उमेश यादव (Umesh Yadav) ने कहा “पुरानी गेंद के साथ यह अब भी ठीक है, लेकिन नई गेंद के साथ…मुझे नहीं पता कि लार को हटाने के बाद यह कितना चमकेगी। चूंकि सफेद गेंद कम स्विंग होती है, इसलिए T20 प्रारूप के लिए यह ठीक है। लेकिन मुख्य समस्या उस समय होगी जब हम टेस्ट मैच खेलेंगे। अगर हम लार का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं तो फिर गेंद को स्विंग कराने के लिए हमें नई तकनीकों के बारे में सोचना होगा। एक बार अभ्यास शुरू हो जाए तो हमें पता चल जाएगा कि इससे कैसे निपटना है।”

मुझे उम्मीद है कि आईपीएल होगा….

उमेश यादव (Umesh Yadav) ने इस बातचीत के दौरान कहा कि मुझे उम्मीद है कि इस साल आईपीएल (IPL) होगा क्योंकि इससे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने से पहले खिलाड़ियों को एक आदर्श प्रशिक्षण का मौका मिलेगा।

धोनी और कोहली में ये है फर्क….

2011 में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में करियर की शुरुआत करने वाले उमेश यादव (Umesh Yadav) ने भारत के लिए अब तक 46 टेस्ट, 75 वनडे और सात टी 20 मैच खेले हैं। धोनी के अलावा उन्होंने विराट कोहली(Virat kohli) की कप्तानी में भी खेलने का मौका मिल रहा।

दोनों कप्तानों में फर्क पूछे जाने पर उन्होंने कहा “मैंने माही भाई के मार्गदर्शन में अपने करियर की शुरुआत की थी। लोग उन्हें कैप्टन कूल कहते हैं। मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है, जिसे मैं कोहली के मार्गर्शन में अमल में ला रहा हूं। विराट भी शानदार कप्तान है। वह काफी आक्रामक है। हमारी शारीरिक भाषा, हमारी सोच, सभी मैच। उनके मार्गदर्शन में खेलना अच्छा है।”

स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होना अच्छी बात…

उमेश यादव (Umesh Yadav)ने भारत की गेंदबाजी इकाई को लेकर कहा कि इसका हिस्सा बनने पर उन्हें गर्व है और वो टीम में जगह बनाने के लिए स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा को पसंद करते हैं। उन्होंने कहा, ‘अब हमारा बॉलिंग डिपार्टमेंट काफी मजबूत है और सभी गेंदबाज शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। इसलिए मेरा मानना है कि तेज गेंदबाजों के बीच टीम में स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा है। जब मैं प्रैक्टिस करता हूं तो प्रतिस्पर्धा के हिसाब से हर दिन इसमें सुधार करता हूं।”

 

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *