भावुक हुए मोहम्मद शमी, कहा- “काश मै सुशांत की मदद कर पाता”

By | 20/06/2020

‘एमएस धोनी-द अनटोल्ड स्टोरी’ में महेंद्र सिंह धोनी के किरदार को बड़े पर्दे पर जीवंत करने वाले सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) अब हमारे बीच नहीं हैं। मात्र 34 साल की उम्र में उन्होंने बांद्रा स्थित अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुशांत एकमाात्र ऐसे अभिनेता थे जो बॉलीवुड के साथ-साथ क्रिकेट जगत में भी सबके चहेते थे।

एमएस धोनी-द अनटोल्ड स्टोरी से धोनी का किरदार निभाने के बाद क्रिकेट जगत में उनकी अच्छी पहचान हो गई थी और उनकी मौत से क्रिकेट जगत भी सदमे में है। डिप्रेशन का शिकार रहे सुशांत (Sushant Singh Rajput) को श्रद्धांजलि देते हुए भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने उनको याद किया। शमी ने सुशांत के साथ अपने स्नेहपूर्ण रिश्तों का खुलासा करते हुए कि उनकी डिप्रेशन की समस्या को सुना और समझा जाना चाहिए था।

काश मैं उसकी मदद कर पाता….

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के साथ बिताए समय को याद करते हुए शमी (Mohammed Shami) ने कहा ”डिप्रेशन एक ऐसी बीमारी है, जिस पर ध्यान दिया जाना चाहिए। यह बहुत दुखद है कि इसकी वजह से बेहद प्रतिभाशी अभिनेता को जान गंवानी पड़ी। वह मेरे दोस्त थे, अच्छा होता मैंने उनसे बात की होती।”

यह भी पढ़ें: 20 जून को भारत के लिए पांच खिलाड़ियों ने किया टेस्ट डेब्यू, तीन ने किया विश्व पर राज !

उन्होंने कहा “अच्छा होता मैं उसकी मानसिक स्थिति को समझ पाता। मेरे मामले में मेरे परिवार ने ही मुझे इस स्थिति से निकाला था। उन्होंने मेरी देखभाल की और मुझे अहसास कराया कि मुझे फाइट बैक करना है।”

शमी भी थे डिप्रेशन में…

कोरोना वायरस (COVID-19) के चलते पिछले 3 महीने से सभी क्रिकेटर अपने घरों पर बैठे है। इसी लॉकडाउन के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket team) के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने डिप्रेशन में होने का खुलासा करके सबके चौका दिया था। शमी अपने करियर के कठिन समय में और अपने वैवाहिक जीवन के खराब होने के बाद डिप्रेशन में चले गए थे। उन्होंने कहा था “मैं इतना डिप्रेशड था कि आत्महत्या करना चाहता था।”

शमी (Mohammed Shami) ने बाद में बताया कि उनके परिवार ने उनकी मदद की जिसकी वजह से वो डिप्रेशन से उबर पाए। शमी ने कहा “मेरे केस में मेरे परिवार ने मेरी मदद की। उन्होंने मेरा ख्याल रखा और मुझे लड़ने की ताकत दी।”

कठिन समय में कोहली ने की मदद…

मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) जब अवसाद के दौर से गुजर रहे थे तब वह टीम इंडिया (Team india) के सदस्य थे और शानदार प्रदर्शन कर रहे थे। उन्होंने बताया कि डिप्रेशन का प्रभाव उनके खेल पर भी पड़ा था लेकिन उस वक्त उनका साथ टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने दिया था। उन्होंने कहा ”मानसिक दबाव आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ नहीं रहने देता। लेकिन यदि ऐसे समय आप किसी से बात करते हैं तो आप इससे बाहर आ सकते हैं। सपोर्ट स्टाफ, विराट कोहली और अन्य खिलाड़ियों ने मुझे समर्थन दिया। मैं खुश हूं कि मेरा वह दौर खत्म हो गया।”

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *