ICC एलीट पैनल में शामिल होने वाले सबसे युवा अंपायर बने भारत के नितिन मेनन

By | 29/06/2020

भारतीय अंपायर नितिन मेनन (Nitin Menon) को आईसीसी (ICC) अंपायरों के एलीट पैनल (Elite Panel) में शामिल किया गया है। इस पैनल में शामिल होने वाले नितिन सबसे कम उम्र के अंपायर हैं। नितिन मेनन (Nitin Menon) ने नया इतिहास रच दिया है। वह आगामी 2020-21 सीजन के लिए इंग्लिश अंपायर नाइजेल लाॅन्ग (Nigel Llong) की जगह लेंगे।

नितिन मेनन का करियर…

36 साल के मेनन (Nitin Menon) को 57 प्रथम श्रेणी मैचों के अलावा तीन टेस्ट, 24 वनडे और 16 टी20 अंतरराष्ट्रीय में और 40 आईपीएल मैचों में अंपायरिंग का अनुभव है। वह इस सूची में जगह बनाने वाले पूर्व कप्तान श्रीनिवास वेंकटराघवन (Srinivasaraghavan Venkataraghavan) और सुंदरम रवि (Sundaram Ravi) के बाद प्रतिष्ठित समूह में जगह बनाने वाले वह तीसरे भारतीय अंपायर हैं। रवि को पिछले साल इस पैनल से बाहर कर किया गया था। नितिन मेनन (Nitin Menon) से पहले इंग्लैंड के 40 वर्षीय माइकल गॉफ मौजूदा पैनल में शामिल सबसे युवा अंपायर थे।

यह भी पढ़ें: बादशाह के ‘गेंदा फूल’ गाने पर रिहर्सल करते दिखे डेविड वॉर्नर

नितिन मेनन (Nitin Menon) ने 22 साल की उम्र में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना छोड़ दिया था और 23 साल की उम्र में वे सीनियर अंपायर के तौर पर BCCI से मान्यता प्राप्त मैचों में अंपायरिंग करने लगे थे। पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर नरेंद्र मेनन (Narendra Menon) के बेटे नितिन 2005 में मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के प्रदेश पेनल के अंपायर बने थे। अंडर-16, अंडर-19, अंडर-23 और लिस्ट ए मैचों में मध्यप्रदेश की नुमाइंदगी कर चुके नितिन ने 2006 में बीसीसीआई का अखिल भारतीय अंपायरिंग इम्तिहान पास किया और 2007-08 सत्र से घरेलू मैचों में अंपायरिंग कर रहे हैं।

ICC के इस पैनल ने दिया सुझाव…

नितिन मेनन (Nitin Menon) के नाम का सुझाव आईसीसी (ICC) के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ अलार्डिंस (अध्यक्ष), पूर्व खिलाड़ी और कमेंटेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) और मैच रेफरियों रंजन मदुगले (Ranjan Madugalle) एवं डेविड बून (David Boon) की चयन समिति ने नितिन मेनन (Nitin Menon) का चुनाव किया। मेनन इससे पहले अंपायरों के एमिरेट्स आईसीसी इंटरनेशनल पैनल (Emirates ICC International Panel) का हिस्सा थे।

मेनन ने कही ये बात….

मेनन ने आईसीसी (ICC) के एक बयान में कहा “दुनिया के प्रमुख अंपायरों और रेफरी के साथ-साथ नियमित रूप से अंपायरिंग करना एक ऐसी चीज है, जिसका मैं हमेशा से सपना देखता था और अब तक यह महसूस नहीं कर पाया।”

उन्होंने कहा “रणजी ट्रॉफी बहुत प्रतिस्पर्धात्मक है, और फिर जब हम अच्छा करते हैं तो हमें आईपीएल में मौका मिलता है, जो एक तरह से अंतर्राष्ट्रीय खेल जैसा लगता है। जब मैं अपने पहले अंतरराष्ट्रीय खेल में खड़ा था, तब भी थोड़ा दबाव था, मगर धीरे-धीरे सब नाॅर्मल होता गया।”

एलीट पैनल (ICC Elite Panel) में शामिल होने पर कितना प्रेशर होगा, इस पर मेनन कहते हैं “यह ऐसी जगह है जहां आपको लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होता है। मैं आईसीसी एलीट पैनल में शामिल किए जाने पर बेहद खुश हूं और लक्ष्य प्रदर्शन में निरंतरता को बनाए रखने का रहेगा।”

23 साल की उम्र में अंपायर बनने वाले मेनन (Nitin Menon) के पास काफी तजुर्बा है और अब उन्होंने आईसीसी के एलीट पैनल (ICC Elite Panel) में शामिल होने वाले सबसे युवा अंपायर बनकर इतिहास रच दिया है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *