युवराज सिंह ने बताई क्रिकेट से सन्यास लेने की वजह

By | 20/06/2020

भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह भारत के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में से एक रहे है। क्रिकेट के सभी प्रारूपों में उनके रिकॉर्डस को कम नही आंका जा सकता, लेकिन इसके बावजूद भी क्रिकेट के मैदान से उन्हें वैसी भव्य विदाई नही मिली जिसके वास्तव में वह हक़दार थे।

2007 के टी-20 टूर्नामेंट और 2011 विश्वकप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले युवी ने कहा,” जब आप अपने जीवन मे तेजी से आगे की ओर बढ़ रहें होते हो तो आपको किसी चीज का एहसास नही होता और फिर आपको लगता है कि, अरे ये क्या हो गया मैं 2- 3 महीने से घर पर बैठा हूँ, ज़ाहिर तौर पर अलग वजह से, मेरे करियर में वह समय आ गया जब क्रिकेट मानसिक रूप से मेरी मदद नहीं कर पा रहा था”।

गौरव कपूर (Gourav Kapoor) से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि,” मैं हमेशा से ही क्रिकेट खेलना चाहता था। लेकिन अब इससे मेरी मदद नही हो पा रही थी। मेरे करियर में एक समय ऐसा भी आया था जब में मानसिक रूप से हार चुका था। मैं सोच रहा था कि मुझे कब रिटायर होना जाना चाहिए?मुझे रिटायर नहीं होना चाहिए,क्या मैं एक और सीजन खेलूं?

यह भी पढ़े:पाकिस्तानी गेंदबाज की इंग्लैंड को चेतावनी, कहा- “बच्चा समझोगे तो बड़ा नुकसान होगा”

इस बातचीत के दौरान उन्होंने आगे बताया कि,”क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद उन्हें मानसिक शांति मिली।मैं कई बार इसे मिस करता हूँ,लेकिन कई बार नहीं भी करता क्योंकि मैंने कई सालों तक क्रिकेट खेला है।मुझे अपने फैंस से बहुत सारे मैसेज मिलते है,इससे मुझे अच्छा महसूस होता है”। उन्होंने आगे कहा कि,’खेल से मिले सम्मान से ज्यादा बीस साल में कमाया हुआ सम्मान देखकर अच्छा लगता है’।

उन्होंने आगे कहा,’मैंने वास्तव में अच्छी तरह सोने की कोशिश की,मैं कई सालों से सोया नहीं था,हालांकि मैं मानसिक तौर से बहुत खुश हूँ’।

ग़ौरतलब है कि युवराज सिंह के बेहतरीन प्रदर्शन के कारण ही भारत 2011 विश्वकप में 28 वर्ष बाद वर्ल्ड चैंपियन बन पाया था,इस टूर्नामेंट में युवी को बेस्ट प्लेयर चुना गया था।युवी ने भारत की तरफ से 304 वनडे,58 टी-20 और40 टेस्ट मैच खेले है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *