वर्ल्ड कप खेल चुके 5 सक्रिय भारतीय खिलाड़ी जो अब तक टेस्ट डेब्यू नहीं कर सके हैं

By | 28/06/2020

टेस्ट फॉर्मेट को क्रिकेट का सबसे चुनौतीपूर्ण प्रारूप माना जाता है। टेस्ट के साथ साथ विश्व कप भी एक ऐसा टूर्नामेंट है, जिसकी बहुत ज्यादा अहमियत देखने को मिलती है। टेस्ट के साथ साथ विश्व कप में भी टीम इंडिया (Team India) का खासा दबदबा देखने को मिला। एमएस धोनी (MS Dhoni) की अगुवाई में भारत ने टेस्ट में नंबर 1 भी बनके दिखाया और साल 2011 में एकदिवसीय विश्व कप भी जीता।

भारतीय टीम में कई सारे ऐसे खिलाड़ी रहे है, जिन्होंने टेस्ट के साथ साथ विश्व कप में भी देश का प्रतिनिधित्व किया। मगर कुछ बड़े खिलाड़ी ऐसे भी रहे, जिन्होंने टीम के लिए विश्व कप के मैच तो जरुर खेले, लेकिन टेस्ट में डेब्यू नहीं कर सके।

आज हम आपको इस लेख के जरिये भारतीय टीम के उन पांच एक्टिव खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे है, जिन्होंने विश्व कप के मैच तो खेले लेकिन टेस्ट डेब्यू नहीं कर सके।

1 . रॉबिन उथप्पा 

Team India Robin Uthappa

रॉबिन उथप्पा

इस सूची में सबसे पहला नाम विकेटकीपर बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) का आता है। शायद बहुत ही कम लोग यह बात जानते होगे लेकिन रॉबिन उथप्पा टीम इंडिया के लिए साल 2007 का वनडे विश्व कप खेल चुके हैं। उस टूर्नामेंट में टीम का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा था और पहले ही ग्रुप से भारत बाहर हो गयी थी। टूर्नामेंट के तीन मैचों में उथप्पा के बल्ले से भी सिर्फ 30 रन देखने को मिले थे।

साल 2006 से 2008 वह सीमित ओवर के प्रारूप में टीम के अहम खिलाड़ी भी रहे, लेकिन उनको एक बार भी टेस्ट डेब्यू का मौका नहीं मिल सका। रॉबिन ने टीम इंडिया के लिए 46 वनडे और 13 टी20 मैच खेले। मौजूदा समय में उथप्पा टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं।

2 . युसूफ पठान 

Team India Yusuf Pathan

युसूफ पठान

इस सूची में दूसरा नाम युसूफ पठान (Yusuf Pathan) का आता है। युसूफ टीम के उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से एक रहे, जिन्होंने विश्व कप का मैच तो जरुर खेला लेकिन टेस्ट डेब्यू नहीं कर सके। युसूफ पठान टीम इंडिया के लिए साल 2011 का एकदिवसीय विश्व कप खेल चुके है। 2011 के विश्व कप में युसूफ ने कुल 6 मैच खेले थे और 115.63 के स्ट्राइक रेट के साथ 74 रन बनाये थे।

युसूफ पठान टीम इंडिया के लिए सीमित ओवर प्रारूप में काफी लंबे समय तक खेले, लेकिन टेस्ट में उनको एक बार भी टेस्ट करने का मौका नहीं मिल सका। 2007 से 2012 तक पठान भारत के मुख्य खिलाड़ियों में से एक भी रहे।

साल 2010 के दिलीप ट्रॉफी फाइनल में युसूफ पठान ने चौथी पारी में 536 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक शानदार दोहरा शतक जमाया था और तब उनके टेस्ट डेब्यू के काफी अवसर सामने आये थे, लेकिन यह हकीकत में तब्दील ना हो सके। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में युसूफ ने 100 मैच खेले है और 4825 रन बनाने के साथ 201 विकेट भी अपने नाम किये है।

यह भी पढ़े: महिला क्रिकेट के साथ छेड़छाड़ करने की कोई जरूरत नहीं: शिखा पांडे

3 . केदार जाधव 

Team India Kedar Jadhav

केदार जाधव

इस सूची में अगला नाम महाराष्ट्र के ऑलराउंडर खिलाड़ी केदार जाधव (Kedar Jadhav) का आता है। पिछले चारा सालों से केदार लगातार टीम इंडिया के लिए वनडे फॉर्मेट में बने हुए है। केदार भी उन खिलाड़ियों में से एक रहे, जिन्होंने विश्व कप के मैच तो खेले लेकिन टेस्ट डेब्यू का सपना उनके लिए सपना बनकर ही रह गया।

2019 विश्व कप के दौरान केदार जाधव टीम इंडिया का हिस्से थे और उन्होंने टूर्नामेंट की पांच पारियों में 40 की औसत के साथ 80 रन भी बनाये। अभी तक केदार 73 वनडे मैचों में 1389 रन और 27 विकेट अपने नाम कर चुके हैं, जबकि उनको 9 टी20आई खेलने का अवसर भी मिला और वह 123.23 के स्ट्राइक रेट के साथ सिर्फ 122 रन बना सके।

मौजूदा समय में केदार जाधव 35 वर्ष के हो चुके है और अब तो शायद ही उनको टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू का मौका मिल सके।

4 . मोहित शर्मा 

Team India Mohit Sharma

मोहित शर्मा

हरियाणा के तेज गेंदबाज मोहित शर्मा (Mohit Sharma) भी का नाम भी इस लिस्ट में शुमार है। मोहित शर्मा ने देश के लिए साल 2015 का एकदिवसीय विश्व कप खेला था और टूर्नामेंट में शानदार गेंदबाजी करते हुए उन्होंने आठ मैचों में 13 विकेट अपने नाम किये थे।

2013 में टीम इंडिया के लिए डेब्यू करने वाले मोहित शर्मा लगातार दो सालों तक टीम के सदस्य बने रहे, लेकिन इस दौरान उनको एक बार भी टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका नहीं मिल सका।

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने 26 वनडे में 31 और आठ टी20आई मुकाबलों में छह विकेट हासिल किये है। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनको 44 मैच खेलने का मौका मिला और वह 127 विकेट ले सके।

5 . युजवेंद्र चहल 

Team India Yuzvendra Chahal

युजवेंद्र चहल

सूची में सबसे अंतिम नाम टीम इंडिया के लेग स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) का आता है। चहल भी उन खिलाड़ियों में से एक रहे, जिनको वर्ल्ड कप के मैच खेलने का तो अवसर मिला, लेकिन लाल गेंद के प्रारूप में अभी तक अपना जलवा नहीं बिखेर सके।

29 वर्षीय युजवेंद्र चहल साल 2019 के एकदिवसीय विश्व कप के दौरान टीम इंडिया का हिस्सा थे और उनको टूर्नामेंट के दौरान आठ मैचों में उन्होंने 12 विकेट अपने नाम किये थे।

अभी तक चहल भारत के लिए 52 वनडे में 91 और 42 टी20आई मैचों में 55 विकेट हासिल की है। वहीं फर्स्ट क्लास क्रिकेट के 31 मुकाबलों में वह 84 खिलाड़ियों को पवेलियन की राह दिखा चुके है। आज भी युजवेंद्र चहल को अपने टेस्ट डेब्यू का इंतजार है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *