5 क्रिकेट रिकॉर्ड जिसे तोड़ना लगभग नामुमकिन है

क्रिकेट की दुनिया में हर रोज कोई न कोई नए रिकॉर्ड बनते एवं टूटते हैं। कहा गया है कि रिकॉर्ड बनते ही हैं टूटने के लिए, लेकिन आज हम आपको 5 ऐसे रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे तोड़ना लगभग नामुमकिन है। (5 Cricket Records Never Be Broken)

5. जैक हॉब्स के 199 शतकों का रिकॉर्ड (Sir Jack Hobbs’s 199 centuries) :

शायद सभी लोग यह जानते होंगे कि सचिन तेंदुलकर ने अब तक सबसे अधिक शतक जड़े हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज जैक हॉब्स (Sir John Berry ‘Jack’ Hobbs) ने घरेलू एवं अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में मिलाकर कुल कुल 199 शतक लगाए हैं।

जैक हॉब्स ने 38 टेस्ट मैचों में ओपनिंग की है, जिसमें उन्होंने 15 शतकीय साझेदारियां निभाई हैं। इन साझेदारियों में 87.81 की औसत से 3,249 रन बने हैं। यह टेस्ट क्रिकेट इतिहास में ओपनिंग पार्टनरशिप की सर्वश्रेष्ठ औसत है। 5 Cricket Records Never Be Broken

4. विल्फ्रेड रोड्स का 52 की उम्र में संन्यास (Wilfred Rhodes retirement at the age of 52):

आज के समय में जहाँ फील्डिंग सबसे महत्वपूर्ण पक्ष होता है। ऐसे समय में 52 वर्ष की उम्र तक क्रिकेट खेलना नामुमकिन है। पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर विल्फ्रेड रोड्स का अन्तर्राष्ट्रीय करियर 30 वर्ष तक चला। उन्होंने 52 वर्ष की उम्र में संन्यास लिया था। 5 Cricket Records Never Be Broken

3. बापू नादकर्णी के लगातार 21 ओवर मैडन:

साल 1964 में चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए एक मैच में बापू नादकर्णी ने लगातार 21 ओवर मैडन फेंके थे। उनके 131 गेंदों पर इंग्लिश बल्लेबाज कोई रन नहीं ले सके थे। इस रिकॉर्ड को तोड़ना लगभग नामुमकिन है। 5 Cricket Records Never Be Broken

2. एक मैच में जिम लेकर द्वारा 19/90 का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन (Jim Laker’s Match Bowling figures of 19/90):

क्रिकेट की शुरुआत से लेकर अब तक ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड एक दूसरे के सबसे बड़े विरोधी रहे हैं। 1956 में इंग्लिश स्पिनर जिम लेकर ने एक टेस्ट मैच में 90 रन देते हुए 19 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को पस्त कर दिया। उस समय ऑस्ट्रेलियाई टीम स्पिन अच्छा नहीं खेल पाती थी। इस रिकॉर्ड को तोड़ना लगभग नामुमकिन है। unbreakable records of cricket

1. सर डॉन ब्रैडमैन का 99.94 औसत (Sir Don Bradmans average of 99.94):

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन का 52 टेस्ट मैचों में 99.94 का बल्लेबाजी औसत रहा है। वे अपने अंतिम टेस्ट में शून्य पर आउट हो गए थे अन्यथा यह औसत 100 के पार होता। इस रिकॉर्ड को आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है। आगे भी इसे तोड़ना नामुमकिन सा दिख रहा है।

Keyphrases: Great Cricket Records that are Hard to Break, 5 world records in cricket that may never be broken, 5 Cricket Records That Are Unlikely To Be Broken Ever, unbreakable records of cricket, interesting records in cricket

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *