अगर खिलाड़ी कोरोना संक्रमित नहीं तो लार के प्रयोग की मिले इजाजत: अजीत अगरकर

By | 16/06/2020

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए ICC द्वारा हाल ही में लार (Saliva) के प्रयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जिसके बाद से क्रिकेट जगत के विशेषज्ञों ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी। अब इस मुद्दे पर भारत के पूर्व गेंदबाज अजीत अगरकर (Ajit Agarkar) ने कहा है कि वर्तमान स्थिति के अनुसार ICC द्वारा लिया गया कदम सही है। लेकिन अगर खिलाड़ी पूर्ण रूप से स्वस्थ है तो उसे बॉल को चमकाने के लिए लार (Saliva) के प्रयोग की इजाजत दी जानी चाहिए।

अगरकर (Ajit Agarkar) का मानना है कि एक गेंदबाज के लिए लार का प्रयोग उतना ही जरूरी है जितना की एक बल्लेबाज के लिए बल्ला। ICC द्वारा लार के इस्तेमाल पर जो प्रतिबंध लगाया गया है यह नियम इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की आगामी सीरीज 8 जुलाई से लागू किया जायेगा।

अगरकर (Ajit Agarkar) ने कहा कि “मेरा विचार है कि, मैच से पूर्व हर खिलाड़ी का कोरोना का टेस्ट होना चाहिए। अगर उस दौरान खिलाडी में कोरोना के लक्षण नहीं मिलते है तो गेंदबाज को बॉल को चमकाने के लिए लार (Saliva) के प्रयोग करने की इजाजत मिलनी चाहिए ।

यह भी पढ़े: बिना दर्शकों के IPL बिना मेहमानों की शादी जैसा: इरफान पठान

हालांकि उन्होंने यह भी माना कि मौजूदा स्थिति में ICC और चिकित्सा समिति के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था, खिलाड़ियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उन्होंने सुरक्षित विकल्प चुना। ऐसी परिस्थितियों में ये उचित भी है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में उनके के लिए यह बहुत ही मुश्किल फैसला था।

अजीत अगरकर (Ajit Agarkar) ने भारत की तरफ से 26 टेस्ट मैचों में 58 विकेट और 191 वनडे मैचों में 288 विकेट तथा 4 टी-20 मैच के 3 विकेट लिए है तथा फर्स्ट क्लास के 110 मैचों में 299 विकेट अपने नाम दर्ज किए है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *