कोरोना काल में रिवर्स स्विंग भूल जाएं गेंदबाज: इरफान पठान

By | 14/07/2020

कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते बंद पड़ा क्रिकेट जगत अब एक बार फिर से शुरु हो गया है। इस महामारी को देखते हुए नए नियम, कायदे और बदलाव के साथ एक बार फिर मैदान पर खिलाड़ियों की वापसी हो चुकी है। अब किलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए न तो मैदान में दर्शक होंगे और न ही खिलाड़ी एक-दूसरे से हाथ मिला सकेंगे। अब गेंदबाजों को मुश्किलों का सामना करना होगा क्योंकि अच्छी गेंदबाजी के लिए जो लार का इस्तेमाल पहले होता था अब उसपर बैन लग चुका है। अब नए नियमों के साथ ही अलग-अलग देश के खिलाड़ी मैदान पर मैच खेल पाएंगे। इसी बीच भारत के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान (Irfan Pathan) ने भी कहा कि इस कोरोना काल में गेंदबाजों के लिए मुश्किल होगी।

रिवर्स स्विंग भूल जाएं गेंदबाज….

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान (Irfan Pathan) ने इस कठिन समय में क्रिकेट को लेकर अपनी राय रखी। उनका मानना है कि कोरोना वायरस के कारण ‘बायो-सेफ’ माहौल में फिलहाल दुनिया भर के तेज गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग तो भूल जानी चाहिए। गेंदबाजों को आने वाले समय में मुश्किल का सामना करना पड़ेगा। इरफान पठान ने इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में खेले गए पहले टेस्ट को देखते हुए माना कि दुनिया भर के तेज गेंदबाजों को फिलहाल रिवर्स स्विंग तो भूल ही जानी चाहिए।

पठान (Irfan Pathan) ने कहा “लार मोटी होती है और उससे रिवर्स स्विंग पर ज्यादा असर पड़ता है. कोरोना महामारी के रहने तक लार के इस्तेमाल पर रोक रहेगी और तेज गेंदबाजों की राह मुश्किल होने वाली है।”

यह भी पढ़ें:  ब्रॉड को टीम से बाहर करने पर कोई अफसोस नहीं:बेन स्टोक्स

लार के बैन से गेंदबाजों को होने वाली कठिनाइयों का समाधान पूछले पर इरफान पठान ने कहा ‘‘बाहरी पदार्थ के इस्तेमाल की अनुमति दें या भूल जायें कि रिवर्स स्विंग भी कुछ होती है सीम गेंदबाजी के अनुकूल पिचें बनायें। आप फिर सीम हिट करो, हरकत होती रहेगी या फिर मैच एकतरफा हो जाएंगे।

आशीष नेहरा ने जताई सहमति…

इरफान पठान (Irfan Pathan) के बयान का भारत के एक और पूर्व गेंदबाज आशीष नेहरा (Ashish Nehra) ने समर्थन किया। उन्होंने कहा “जिमी एंडरसन जिस तरह से शार्ट ऑफ लेंथ गेंदबाजी कर रहे थे, उससे लगता है कि लार के अभाव में सामान्य स्विंग भी नहीं मिल पा रही।”

नेहरा ने कहा “एंडरसन कई बार छोटी गेंद डाल रहे थे जबकि वह ऐसा कभी नहीं करते। ड्यूक गेंद स्विंग ही नहीं ले रही थी क्योंकि लार के बिना चमक नहीं थी। वह अपनी क्षमता का आधा भी प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे।’

आपको बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नये तौर तरीकों के साथ बहाल हुआ जिसमें गेंद को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल पर रोक है।

खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *