CPL इतिहास में किस सीजन कौन से टीम बनी चैंपियन?

कैरिबियन प्रीमियर लीग का 8वां सीजन (CPL 2020) की 18 अगस्त से लेकर 10 सितम्बर तक ब्रायन लारा स्टेडियम और क्वीन्स पार्क ओवल में खेला जाएगा। कैरिबियन प्रीमियर लीग का आयोजन पहली बार साल 2013 में हुआ था। तब से लेकर साल 2019 तक इसके 7 संस्करण खेले जा चुके हैं। (Champions in CPL History)

CPL इतिहास की सबसे सफल टीम त्रिनिदाद और टोबैगो (Teinidad And Tobago) है। इस टीम ने 3 बार CPL का खिताब अपने नाम किया है। साल 2015 में शाहरुख खान की रेड चिलीज इंटरटेनमेंट और मेहता ग्रुप (जय मेहता, जूही चावला) ने इस टीम का स्टेक खरीदा था, तब इसका नाम त्रिनिदाद एवं टोबैगो रेड स्टील था। साल 2016 में इसका नाम बदलकर त्रिनबैगो नाइट राइडर्स (TKR) कर दिया गया। यह टीम 2015, 2017 और 2018 में TKR विजेता बन चुकी है। (Champions in CPL History)

त्रिनबैगो नाइट राइडर्स (TKR) के अलावा जमैका थल्लावाज (Jamaica Tallawahs) और बार्बाडोज ट्राइडेंट्स (Barbdos Tridents) 2-2 बार चैंपियन बन चुके हैं। इसके अलावा गुयाना अमेजन वॉरियर्स (Guyana Amazon Warriors) CPL इतिहास की इकलौती ऐसी टीम है जो 5 बार फाइनल में पहुँच चुकी है, लेकिन एक भी बार चैंपियन नहीं बन सकी है। साल 2019 तक इस टीम का नेतृत्व पाकिस्तान के शोएब मलिक करते थे। इस साल वे अनुपस्थित रहेंगे। (Champions in CPL History)

CPL के सभी संस्करणों के विजेताओं की सूची (CPL Champions Team List):

  1. जमैका थल्लावाज- साल 2013 vs गुयाना अमेजन वॉरियर्स
  2. बार्बाडोज ट्राइडेंट्स- साल 2014 vs गुयाना अमेजन वॉरियर्स
  3. त्रिनिदाद एंड टोबैगो रेड स्टील- साल 2015 vs बार्बाडोज ट्राइडेंट्स
  4. जमैका तल्लावाज- साल 2016 vs गुयाना अमेजन वॉरियर्स
  5. त्रिनबैगो नाइट राइडर्स- साल 2017 vs सेंट किट्स एंड नेविस पेट्रियॉट्स
  6. त्रिनबैगो नाइट राइडर्स- साल 2018 vs गुयाना अमेजन वॉरियर्स
  7. बार्बाडोज ट्राइडेंट्स- साल 2019 vs गुयाना अमेजन वॉरियर्स

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Category: Latest Cricket News Tags:

About नीतिश कुमार मिश्र

नीतिश कुमार मिश्र (Neetish Kumar Mishra) CRICKHABARI.COM के फाउंडर हैं। वे साल 2016 से खेल पत्रकारिता की दुनिया में सक्रिय हैं और अब तक एक हजार से अधिक खबरें लिख चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *