क्रिकेट के वो रिकॉर्ड जिसे तोड़ना लगभग नामुमकिन है

कहते है रिकार्ड्स टूटने के लिए ही बनते है लेकिन आज तक क्रिकेट के इतिहास में बैट्समैन तथा बॉलरों द्वारा बहुत सारे रिकॉर्डस बनाये तथा तोड़े गए । क्रिकेट जगत के इतने वर्षों के इतिहास में आज भी कई सारे रिकॉर्ड ऐसे है जिनके रिकॉर्डस को बैट्समैन और बॉलर के लिए तोड़  पाना मुश्किल या नामुमकिन सा नजर आता है। तो आइये आज क्रिकेट के उन्ही रिकार्ड्स के बारे में जानते हैं। (Cricket Records May Be Unbroken, क्रिकेट के अटूट रिकॉर्ड)

Cricket Records Might be Unbroken (क्रिकेट के अटूट रिकॉर्ड):

महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन:

Sir Don Bradman

इन रिकार्ड्स की लिस्ट में सबसे पहले नाम ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन का आता है जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट की 80 पारियों में 99.54 और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 95.14 की औसत से  रन बनाये हैं क्रिकेट के इतिहास के इतने वर्ष बीत जाने के बाद भी कोई भी बल्लेबाज इनके इस रिकार्ड्स को तोड़ पाना तो दूर इनके आस पास भटक भी नहीं पाया है। (Cricket Records Might Unbroken, क्रिकेट के अटूट रिकॉर्ड)

20वीं सदी के बेहतरीन खिलाड़ी सर जैक हॉब्स:

Jack Hobbs
अपने समय में “मास्टर” के रूप में विख्यात,सर जैक हॉब्स  20वीं सदी के बेहतरीन खिलाड़ी रहे हैं सर जैक हॉब्स ने 834 फर्स्ट क्लास मैचों में 61,760 रन और 199 शतक के साथ, प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे ज़्यादा रन और शतक बनाने वाले बल्लेबाज हैं। सर जैक हॉब्स इंग्लैंड के लिए 61 टेस्ट मैच खेले है । उन्हें क्रिकेट के इतिहास में महानतम बल्लेबाज में से एक माना जाता है। (Cricket Records Might Be Unbroken, क्रिकेट के अटूट रिकॉर्ड)

इंग्लैंड के टेस्ट मैच में ग्राहम गूच के 456 रन:

Graham Gooch
टेस्ट मैच की दोनों पारियों में सबसे अधिक रन बनाने का अटूट रिकॉर्ड आज भी इंग्लैंड के दिग्गज बल्लेबाज ग्राहम गूच के नाम पर ही दर्ज है। जिन्होंने 1990 में लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड में भारत के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में पहली पारी में 333 रन और दूसरी पारी में 123 रन बना कुल 456 रन बनाए थे।

फिल सिमंस की शानदार इकोनॉमी:

Phil Simmons
1992 में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए वनडे में वेस्ट इंडीज के फिल सिमंस ने अपने 10 ओवर के स्पेल में 0.3 की इकोनॉमी से मात्र 3 रन दिए  जो आज के समय में सोचना अकल्पनीय है क्रिकेट के 28 साल के इतिहास में यह रिकॉर्ड आज भी अटूट हैं। आगे आने वाले समय में भी तोड़ना नामुमकिन सा लगता है। (Cricket Records Might Be Unbroken, क्रिकेट के अटूट रिकॉर्ड)

मुथैया मुरलीधरन के 1347 अन्तर्राष्ट्रीय विकेट

Muttiah Muralitharan
 
20 साल की उम्र में क्रिकेट की शुरुआत करने वाले महान बॉलर मुथैया मुरलीधरन ने अपने 20 साल के क्रिकेट करियर में टेस्ट, वनडे तथा टी20 को मिला कर 1347 विकेट अपने नाम दर्ज किये इनमें 133 खेले गए 230 पारियों में  मुरलीधरन के के नाम 800 टेस्ट विकेट, 350 वनडे में 3.93 की औसत से 534 विकेट तथा 12 टी20 इंटरनैशनल मैच भी खेले और 13 विकेट लिए। मुथैया मुरलीधरन के 1347 अंतराष्टीय विकेट का रिकार्ड्स आज तक अटूट है। (Cricket Records Might Be Unbroken, क्रिकेट के अटूट रिकॉर्ड)

Author: Bhupendra Rawat

Category: Cricket Records

About नीतिश कुमार मिश्र

नीतिश कुमार मिश्र (Neetish Kumar Mishra) CRICKHABARI.COM के फाउंडर हैं। वे साल 2016 से खेल पत्रकारिता की दुनिया में सक्रिय हैं और अब तक एक हजार से अधिक खबरें लिख चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *