डॉम सिबली ने गेंद पर लार का इस्तेमाल कर ICC के नियमों का किया उल्लंघन

By | 20/07/2020

कोरोनावायरस के बढ़ते कहर को देखते हुए आईसीसी ने खिलाड़ियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गेंदबाजों द्वारा गेंद पर लार के प्रयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था। आईसीसी द्वारा बनाए गए इन्हीं नए नियमों के साथ इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच चल रही टेस्ट सीरीज से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी भी हुई थी।

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच मैनचेस्टर में चल रहे दूसरे टेस्ट मैच के दिन रविवार को इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज डॉम सिबली ( Dom Sibley) ने गलती से गेंद पर लार का इस्तेमाल कर दिया, जिसके बाद मैदानी अंपायर को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के नए दिशानिर्देशों के तहत उसे डिसइंफेक्टेड (कीटाणुरहित) करना पड़ा। आईसीसी के कोविड-19 दिशानिर्देशों के तहत यह पहला मौका है जब किसी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के दौरान अंपायरों ने गेंद को सैनिटाइज करने के लिए हस्तक्षेप किया।

वेस्टइंडीज की पारी के 42वें ओवर में अंपायर माइकल गफ को कीटाणुरहित करने के लिए गेंद के दोनों तरफ एक टिश्यू पेपर रगड़ते हुए देखा गया था। सिब्ली ने जैसे ही गेंद पर लार का इस्तेमाल किया तभी इंग्लैंड की टीम ने इस बारे में खुद ही अंपायरों को बताया।

आईसीसी के द्वारा बनाये गए नए नियम के तहत खिलाड़ी गेंद पर सिर्फ पसीने का इस्तेमाल कर सकते हैं। लार से इस महामारी के फैलने का खतरा ज्यादा है। इसलिए सभी खिलाड़ियों को इसका इस्तेमाल करने से मना किया गया है। गौरतलब है कि सभी खिलाड़ी दशकों से गेंद पर लार का इस्तेमाल करते आए हैं। ऐसे में गेंदबाज के लिए अपनी पुरानी आदत पर काबू पाना बेहद जरूरी है।

इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज को इसके लिए कोई दंड नही दिया गया है। इस नियम के अनुसार अंपायर टीम को दो बार इस नियम का उल्लंघन करने पर चेतावनी देंगे, जिसके बाद फिर ऐसा होने पर बल्लेबाजी कर रही टीम को पांच अतिरिक्त रन दिए जाएंगे।

गेंद पर मुंह की लार का इस्तेमाल अनजाने में हुआ है या नहीं इसका फैसला भी अंपायर करेंगे तथा अगली गेंद डालने से पहले गेंद को संक्रमण मुक्त करने की जिम्मेदारी भी अंपायर की होगी। टि्वटर पर सिब्ली की इस गलती पर फैन्स ने भी रिऐक्ट किया है।

यह भी पढ़े:पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान इयान चैपल ने कहा DRS में बदलाव की जरूरत

भारतीय स्पिन दिग्गज अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली आईसीसी क्रिकेट समिति ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर गेंद को चमकाने के लिए लार के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की थी जिसे लागू कर दिया गया था।आईसीसी के नए नियमों के तहत मैचों का आयोजन जैव सुरक्षित माहौल हो रहा है, जिसमें गेंद को चमकाने के लिए सिर्फ पसीने का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्रामचैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *