बॉल टेंपरिंग को लेकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने किए हैरान करने वाले खुलासे

By | 09/07/2020

बॉल टेंपरिंग एक ऐसा मुद्दा है जो क्रिकेट के पूरे रुप को बदल कर रख देता है। मैच में जीत हार से लेकर उसके अस्तित्व तक के सवाल इस मुद्दे से शुरु हो जाते है। क्रिकेट में बॉल टेंपरिंग का मुद्दा अकसर उठता रहता है कभी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी क्रिकेट के इस जघन्य अपराध के चलते प्रतिबंध जैसे बड़े दंड को झेलते हैं तो किसी का करियर ही खत्म हो जाता है। अब टीम इंडिया के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज किरण मोरे (Kiran More) ने बॉल टेंपरिंग से को लेकर बड़े खुलासे किए हैं।

बॉल टेंपरिंग करते थे भारत-PAK के खिलाड़ी….

भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी किरण मोरे (Kiran More) ने हैरान कर देने वाला खुलासा किया है। किरण मोरे ने बॉल टेंपरिंग को लेकर ऐसा खुलासा किया है जो सबको सोच में डाल देगा। किरण मोरे के मुताबिक साल 1989 में भारत और पाकिस्तान के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज में दोनों ही देशों के खिलाड़ियों ने गेंद के साथ छेड़छाड़ की हरकत की थी। दोनों ही देशों के खिलाड़ियों ने बॉल टेंपरिंग की थी लेकिन उनपर कोई एक्शन लिया गया था।

यह भी पढ़ें: सोफी डिवाइन को मिली न्यूजीलैंड महिला क्रिकेट टीम की कमान

मोरे (Kiran More) ने कहा 1989 की भारत और पाकिस्तान सीरीज के दौरान किस तरह दोनों ही टीम के खिलाड़ी रिवर्स स्विंग के लिए गेंद से छेड़छाड़ कर रहे थे। खास बात यह है कि यही वह सीरीज थी, जिसमें पाकिस्तान के वकार यूनुस (Waqar Younis) और भारत के सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपना डेब्यू किया था। इसी मैच से दोनों लीजेंड ने क्रिकेट में पदार्पण किया था।

मोरे (Kiran More) ने बताया कि रिवर्स स्विंग लाने के लिए भारतीय टीम और पाकिस्तानी टीम के गेंदबाजों ने गेंद से छेड़छाड़ की थी। ग्रेटेस्ट राइवलरी पॉडकास्ट में बातचीत के दौरान किरण मोरे (Kiran More) ने कहा ”उन दिनों गेंद से छेड़खानी की इजाजत थी, ताकि गेंदबाज रिवर्स स्विंग हासिल कर सकें। तब दोनों टीमों में से कोई इसकी शिकायत नहीं करता था। हर गेंदबाज छेड़छाड़ करता था। तब बल्लेबाजी करना आसान नहीं था।”

नहीं हुआ कोई एक्शन…

साल 1989 में भारत और पाकिस्तान के बीच खेली गई इस सीरीज में जो बॉल टेंपरिंग की गई थी उसके बारे में उस समय सब जानते थे लेकिन किसी ने कोई एक्शन नहीं लिया। किरण मोरे (Kiran More) ने कहा “रिवर्स स्विंग के लिए खिलाड़ी गेंद को स्क्रैच कर रहे थे और अंपायरों ने भी इस घटना को अनदेखा करते हुए खिलाड़ियों पर कोई एक्शन नहीं लिया गया। खास बात यह है कि अन दिनों बॉल से छेड़छाड़ करने की इजाजत थी , ताकि गेंदबाज रिवर्स स्विंग हासिल कर सकें।”

आपको बता दें कि किरण मोरे Kiran More) के इस खुलासे के बाद सनसनी फैल गई है क्योंकि उन दिनों जिस बॉल टेंपरिंग को कोई बहुत बड़ा क्राइम नहीं माना जाता था आज वहीं बॉल टेंपरिंग क्रिकेट के नियमों के अनुसार बहुत बड़ा क्राइम है। ऐसा करते पाए जाने पर खिलाड़ियों को बैन करने से लेकर टीम से निकालने तक का नियम है।

हालही में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के दो स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वॉर्नर (David Warner) को बॉल से छेड़छाड़ करने के आरोप में ही बैन कर दिया था। अपने बैन के निर्धारित समय को पूरा करने के बाद दोनों ही खिलाड़ियों ने एकबार फिर क्रिकेट में वापसी की है।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *