एक ऐसा कप्‍तान, जिसने पहले ही कर दी थी अपनी मौत की भविष्‍यवाणी

By | 02/06/2020

क्रिकेट जगत का और मैच फिक्सिंग से नाता बहुत पुराना है। मैच फिक्सिंग ने नाजाने कितने ही खिलाड़ियों के क्रिकेट करियर को खत्म करके ही रख दिया जिसके पश्चात् वो खिलाडी क्रिकेट के मैदान में कभी भी खेलते हुए नजर नहीं आये।

हैंसी क्रोन्ये

आज हम आपको ऐसे ही साउथ अफ्रीकी क्रिकेट टीम के बेहतरीन कप्तान हैंसी क्रोन्ये के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपने मरने की भविष्यवाणी पहले ही कर दी थी और मात्र 32 साल की उम्र 1 जून 2002  में दुनिया को अलविदा कह दिया एक विमान हादसे में में उनकी मौत हो गयी थी।

हैंसी क्रोन्ये के क्रिकेट करियर का अंत काफी शर्मनाक रहा। साल 2000 में क्रोन्ये के ऊपर मैच फिक्सिंग का आरोप लगा था। उस समय उनके साथ और भी कई म सामने आए थे इससे पूरा क्रिकेट जगत हिल गया था। उनके ऊपर चली जांच में क्रोन्ये को दोषी पाया गया और आईसीसी ने उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया।

मैच फिक्सिंग में नाम आने से पहले हैंसी क्रोन्ये ने अपने पूरे करियर में कई यादगार मैच खेले। बतौर कप्तान साल 2000 में साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच सीरीज का पांचवां और आखिरी मैच ऐतिहासिक रहा।

दक्षिण अफ्रीकी टीम इस सीरीज में 2-0 से आगे थी। आखिरी टेस्ट के तीन दिन बारिश में धुल जाने के कारण दोनों टीम के कप्तानों ने एक-एक पारी खेलकर मैच का निर्णय करने का फैसला लिया। टेस्ट इतिहास में इस तरह का मैच सिर्फ एक बार ही खेला गया। अफ्रीकी टीम ने पहले खेलते हुए इंग्लैंड की टीम को जीत के लिए 251 रन का लक्ष्य दिया था जिसे इंग्लिश बल्लेबाजों ने आसानी से पा लिया।

हैंसी क्रोन्ये ने कुल 68 टेस्ट मैच खेले जिसमें उनके नाम 3714 रन दर्ज हैं। इस दौरान उनके बल्ले से छह शतक और 23 अर्धशतक निकले। वहीं गेंदबाजी की बात करें तो उन्होंने टेस्ट में 43 विकेट भी अपने नाम किये। क्रोन्ये ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान 188 एकदिवसीय मैच खेले जिसमें उनके नाम 5565 रन दर्ज हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 2 शतक और 39 अर्धशतक निकले। 

क्रिकेट की दुनिया में क्रोन्‍ये का नाम काफी बड़ा था, साउथ अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड के एमडी अली बेचर को भी क्रोन्‍ये की ईनामदारी पर पूरा भरोसा था, मगर आरोप लगने के चार दिन बाद क्रोन्‍ये ने फोन करके उन्‍हें कहा कि वो पूरी तरह ईमानदार नहीं थे।

क्रिकेट में बदनामी तथा क्रिकेट करियर का अंत होने के बाद हैंसी क्रोन्‍ये बिजनेस में खुद को आजमाना चाहते थे इसके लिए  उन्‍होंने बिजनेस लीडरशिप में मास्‍टर डिग्री हासिल की और वह दूसरी पारी की शुरुआत करने की तैयारी कर ही रहे थे कि 2002 में उन्‍होंने दुनिया को अलविदा कह दिया ।

हैंसी क्रोन्ये की प्लेन क्रैश में हुई थी मौत

क्रोन्‍ये के बड़े भाई ने बीसीसी को दिए इंटरव्‍यू में खुलासा किया था कि क्रोन्‍ये ने अपनी मौत एक दशक पहले ही देख ली थी । क्रोन्‍ये ने एक बार कहा था कि हम लोग क्रिकेट के लिए काफी सफर करते हैं।कभी बस से तो कभी विमान से। अब लगता है कि मेरी मौत एक प्‍लेन क्रैश में होगी,हालांकि कुछ लोगों का कहना था कि, क्रोन्ये की हत्या करवाई गई। असल बात क्या है, यह किसी को नहीं पता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *