मदन लाल ने बताया सचिन तेंदुलकर क्यों नहीं बन पाए सफल कप्तान ?

By | 18/06/2020

क्रिकेट के भगवान, मास्टर ब्लास्टर आदि नामों से पुकारे जाने वाले सचिन रमेश तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के लिए यूं तो कोई भी रिकॉर्ड कभी बड़ी बात नहीं रही। लेकिन 100 अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने वाले बल्लेबाज के करियर में सिर्फ कमी रही तो बस उनकी कप्तानी को लेकर। जी हां सचिन की कप्तानी को लेकर अक्सर कई सवाल उठते हैं आए हैं। इसी कड़ी में पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदनलाल (Madan Lal) ने भी सचिन की कप्तानी में क्या कमी थी उसको बताया है।

1996 और 97 में भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रह चुके मदन लाल (Madan Lal) ने बताया कि सचिन (Sachin Tendulkar) एक अच्छे खिलाड़ी थे लेकिन क्यों एक अच्छे कप्तान नहीं साबित हो पाए। उन्होंने बताया कि सचिन खुद के प्रदर्शन को लेकर काफी बिजी रहते थे जिसके कारण कभी वह एक अच्छे कप्तान नहीं बन पाए।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सीईओ पद के लिए एंड्रू स्ट्रॉस का नाम आया सामने

मदनलाल (Madan Lal) ने यह भी कहा कि मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कि वह एक अच्छे कप्तान नहीं थे । लेकिन वह अपने प्रदर्शन में इतना ज्यादा लिप्त रहते थे कि टीम की जिम्मेदारी उठाना उनके लिए मुश्किल था।  उन्होंने कहा कि,”एक कप्तान के तौर पर आपको ना सिर्फ अपने प्रदर्शन बल्कि अन्य 10 खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर भी ध्यान रखना होता है। यह निश्चित है मुश्किल होता है कि आप इसको किस तरह से मैनेज करेंगे।”

सचिन का कप्तानी रिकॉर्ड:

गौरतलब है कि 2013 में अपनी लंबी क्रिकेटिंग करियर को अलविदा कहने वाले सचिन (Sachin Tendulkar) ने 25 बार टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी भी की। जिसमें से सिर्फ 4 बार भारतीय टीम को जीत मिली और 9 बार हार का सामना करना पड़ा तो बाकी 12 मुकाबले ड्रॉ हुए। वह इसके अलावा सचिन (Sachin Tendulkar) ने 73 वनडे मैचों में भी टीम की कप्तानी की जिसमें से सिर्फ 23 बार ही टीम को जीत मिल पाई। यह भी बता दे कि सचिन ने आईपीएल में मुंबई इंडियंस के लिए 55 मैचों में कप्तानी की जिसमें से 32 बार उनकी टीम को जीत मिली।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *