सहवाग को सफल ओपनर बनाने में गांगुली के साथ-साथ, सचिन के त्याग का बड़ा योगदान!

By | 16/07/2020

हर सफल इंसान के पीछे किसी ना किसी का त्याग जरूर छिपा होता है, चाहें वो माता-पिता का हो, दोस्त या भाई का हो या किसी अन्य साथी का। ऐसा ही कुछ भारत के पूर्व ताबड़तोड़ सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) के साथ हुआ। दरअसल अपने करियर की शुरुआत में सहवाग एक निचले मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज थे। लेकिन इस जगह उनकी प्रतिभा उभरके आ नहीं पा रही थी। फिर भारत के तत्कालीन कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने उन्हें सलामी बल्लेबाज बना दिया। फिर क्या जो था वो सब उनके बल्ले से निकलने वाले चौके-छक्कों ने बयां कर दिया। लेकिन टीम के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज अजय रत्रा (Ajay Ratra) का मानना है कि इसका श्रेय सिर्फ गांगुली को ही नहीं जाता बल्कि दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को भी जाता है।

एक निजी मीडिया से बातचीत में रात्रा ने बताया कि,”जब सहवाग को वनडे में ओपनिंग देने की बात चल रही थी तब सचिन भारत के सीनियर और शानदार सलामी बल्लेबाज थे। इसके बावजूद सचिन ने ओपनिंग की जगह चौथे नंबर बल्लेबाजी करने की पेशकश की ताकी टीम को सलामी बल्लेबाजों के तौर पर दाएं-बाएं के संयोजन की जोड़ी मिल सके। जिसके बाद सहवाग ने सौरव गांगुली के साथ ओपनिंग की। इससे पहले सहवाग को निचले ऑर्डर में बल्लेबाजी करनी पड़ती थी और अगर उन्हें ओपनिंग का मौका नहीं मिलता तो शायद उनके करियर की कहानी कुछ और ही होती।”

सहवाग को मिला ओपनिंग का मौका

बात है साल 2001 में न्यूजीलैंड और श्रीलंका के खिलाफ ट्राई सीरीज की, जब तेंदुलकर चोट के चलते हिस्सा नहीं ले पाए थे। शुरुआती मैच में उनकी जगह युवराज सिंह और अमय कुरासिया को जगह देने का विचार फ्लॉप साबित हुआ था। न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के तीसरे मैच में गांगुली ने सहवाग को पहली बार ओपनिंग के लिए भेजा। सहवाग ने 54 गेंदों में 33 रन बनाए और भारत यह मैच हार गया। इसके दो मैचों बाद ही उन्होंने 70 गेंदों में शतक लगाकर टीम को जीत दिलाई। फिर अगली सीरीज में सचिन की वापसी हुई लेकिन सहवाग को ओपनिंग करवाने के लिए उन्होंने काफी समय तक नंबर चार पर खेला। हालांकि 2003 वर्ल्ड कप में सौरव गांगुली ने खुड को डाउन करके सचिन और सहवाग से ओपनिंग करवाई थी।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *