सुनील गावस्कर ने किया खुलासा, क्यों वेस्टइंडीज को हराने के बावजूद भी छिनी थी कप्तानी?

By | 29/06/2020

भारतीय क्रिकेट इतिहास के कई ऐसे राज हैं जिनके बारे में सही तरीके से शायद आज भी नहीं पता चल पाया है। उन्हीं में से एक है 1979 में सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) को कप्तानी से हटाना। बता दें गावस्कर (Sunil Gavaskar)  को कप्तानी से तब हटाया गया जब उन्हेंने शानदार प्रदर्शन करते हुए वेस्टइंडीज को अपनी कप्तानी में टेस्ट सीरीज हराई। इसके बावजूद उनकी कप्तानी छिन गई। उनकी जगह एस वेंकटराघवन (S Venkatraghavan) को कप्तान बनाया गया। गावस्कर (Sunil Gavaskar)  ने अपने एक कॉलम के जरिए इसके पीछा का राज खोला है।

दरअसल गावस्कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि उन्होंने कैरी पैकर वर्ल्ड सीरीज क्रिकेट (Kerry Packer World Series Cricket) खेलने की हामी भरी थी शायद इसी कारण उन्हें कप्तानी से हटाया गया था। गावस्कर ने कॉलम में लिखा कि, “मुझे 1978-79 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपनी कप्तानी में टेस्ट सीरीज जीतने के बावजूद कप्तान के पद से हटा दिया गया था। मैंने खुद इस सीरीज में 700 से ज्यादा रन बनाए थे। मुझे आज भी इसका स्पष्ट कारण नहीं पता लेकिन मुझे अंदाजा है कि मैं कैरी पैकर वर्ल्ड सीरीज क्रिकेट खेलने के लिए राजी था जिसके कारण शायद ऐसा हुआ होगा। जबकि मैंने चयन से पहले बीसीसीआई का कॉन्ट्रैक्ट भी साइन किया था और अपनी इमानदारी को साबित किया था।”

यह भी पढ़ें: वसीम अकरम को अपना आदर्श मानते हैं कीवी स्टार ट्रेंट बोल्ट

बिशन सिंह बेदी के सेलेक्शन पर खुलासा

वहीं उन्होंने आगे बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi) के सेलेक्शन पर भी कई बातों का खुलासा किया । उन्होंने कहा कि,”कमेटी ने पाकिस्तान सीरीज में हार मिलने के बाद बेदी को कप्तानी के साथ-साथ टीम से भी ड्रॉप करने का निर्णय ले लिया था। लेकिन मैंने कहा कि वो आज भी सर्वश्रेष्ट लेफ्ट आर्म स्पिनर हैं जिसके बाद उन्हें पहले मैच में चुना गया। उसके बाद बाकी के दो मैचो में भी उन्हें बाहर किया जा रहा था लेकिन मैं कमेटी को समझाने में सफल हुआ और उन्होंने सभी मुकाबले खेले।”

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुक, ट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *