करियर की शुरुआत से लेकर अब तक धोनी को कभी गुस्से में नहीं देखा: दिनेश कार्तिक

By | 09/06/2020

क्रिकेट (Cricket) के इतिहास में जब भी सफल कप्तानों की बात की जाएगी तो महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) का नाम भी उसमें शुमार होगा। भारतीय क्रिकेट टीम (indian cricket team) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को उनके शान्त स्वभाव के लिए कैप्टन कूल (Captain Cool) के नाम से जाना जाता है।

मैदान पर चाहे जितनी बढ़ी आफत आ जाए, मैच का निर्णायक दौर चल रहा हो या फिर बहुत ही जरुरी कैच छूट जाए धोनी ऐसे कूल कैप्टन थे जो कभी अक्रामक रुप से प्रतिक्रिया नहीं देते थे। इसलिए उनके “कैप्टन कूल” (Captain Cool) और “कूल ऐज आइस” (Cool As Ice) के नाम से भी पुकारा जाता है।

धोनी (MS Dhoni) की इसी कूल व्यवहार पर चर्चा करते हुए भारतीय टीम (Team india) के अनुभवी बल्लेबाज दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने कहा “माही भाई को हमेशा शांत रहते हुए देखा है और वह आज भी वैसे ही हैं, जैसे करियर के शुरुआती दौर में थे।”

करियर के शुरुआत में भी धोनी ऐसे ही थी…

महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी का सबसे बड़ा आकर्षण उनकी कूलनेस, शांत और सबको एक साथ लेकर चलने की प्रकृति थी। धोनी (MS dhoni) की गैर मौजूदगी में भारत के विकेटकीपर और बल्लेबाज दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) उनके साथ लंबे समय से खेले हैं। कार्तिक (Dinesh Karthik) धोनी के नेतृत्व में कई बार खेल चुके हैं। कार्तिक ने बताया “2003-04 में जब मैं पहली बार धोनी के साथ इंडिया ‘ए’ के दौरे में गया था तो मैंने देखा वह काफी शांत है। वह हमेशा शांत ही रहते थे।”

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने की “विराट सेना” के साथ स्लेजिंग से तौबा

कल और आज में सिर्फ सफेद दाढ़ी का फर्क…

दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने कहा “तब और आज में सिर्फ यही अंतर है कि धोनी के बाल थोड़े सफेद हो गए हैं लेकिन आज भी वह वैसे ही शांत स्वभाव के हैं। मैंने अपने पूरे करियर में कभी उन्हें गुस्सा करते नहीं देखा या कभी उन्हें बाहर भी गुस्सा उतारते हुए नहीं देखा है। वह वैसे ही हैं, जैसे पहले हुआ करते थे।”

आपको बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) मैदान पर अपने कूल रहने की वजह से जाने जाते हैं। महेंद्र सिंह धोनी (MS dhoni) के बाद विराट कोहली (Virat Kohli) ने भारतीय टीम (Team India) की कमान संभाली और इनको दोनों के स्वभाव में फैंस को जमीन आसमान का अंतर देखने को मिला। धोनी अपने इसी शांत व्यवहार के कारण ही कैप्टन कूल की उपाधि से नवाजे गए हैं। भारतीय क्रिकेट (Indian cricket) के इतिहास में शायद ही इतना शांत और शालीन स्वभाव का कप्तान देखने को मिले।

गौरतलब है कि पिछले साल इंग्लैंड में हुए आईसीसी विश्वकप में न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में भारत को मिली हार के बाद से अब तक उन्होंने मैदान पर वापसी नहीं की है। धोनी भारत के सफल कप्तानों में से एक हैं। उनके नेतृत्व में ही टीम ने 2007 टी-20 विश्वकप और 2011 एकदिवसीय विश्वकप का खिताब जीता था।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुकट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *