बर्थडे स्पेशल: स्टीव वॉ और मार्क वॉ के क्रिकेट करियर के 5 यादगार लम्हें

स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने साल 1985 में टेस्ट डेब्यू किया था, जबकि मार्क वॉ (Mark Waugh) ने 1991 में टेस्ट डेब्यू किया था। मार्क वॉ इससे पहले 18 वनडे मैच खेल चुके थे। वे वर्ल्ड कप 1987 में भी ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा थे। दोनों भाइयों ने 107 टेस्ट मैच एक साथ खेले और वर्ल्ड कप 1999 की ट्रॉफी भी एक साथ उठाई। (Mark Waugh & Steve Waugh Birthday)

टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले पहले जुड़वा भाई

02 जून 2020 को दोनों जुड़वा भाई अपना 56वां जन्मदिन मना रहे हैं। उनके जन्मदिन के खास अवसर पर हम इस आर्टिकल में आपको दोनों भाइयों के क्रिकेट करियर के कुछ यादगार लम्हों के बारे में बताने जा रहे हैं। (Mark Waugh & Steve Waugh Birthday)

स्टीव वॉ (Steve Waugh) की जगह मार्क वॉ (Mark Waugh) को पहली बार मिली थी टेस्ट टीम में जगह:

मार्क वॉ

स्टीव वॉ (Steve Waugh) साल 1987 की वर्ल्ड कप विजेता ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा थे, लेकिन फिलहाल वे खराब फॉर्म से जूझ रहे थे। इसीलिए उनको एशेज सीरीज 1991 से बाहर करके मार्क वॉ (Mark Waugh) को ऑस्ट्रेलियाई टीम में मौका दिया गया था। मार्क ने मौके को भुनाते हुए 05 जनवरी 1991 को डेब्यू टेस्ट मैच में शतकीय पारी खेलते हुए 138 रन बना डाले। (Mark Waugh & Steve Waugh Birthday)

मार्क वॉ (126) और स्टीव वॉ (200) की किंग्स्टन में शानदार पारी:

मार्क वॉ और स्टीव वॉ

टेस्ट टीम से बाहर होने के बाद स्टीव वॉ ने कड़ी मेहनत करके वापस ऑस्ट्रेलियाई टीम में जगह बना ली थी। अप्रैल 1995 में वेस्टइंडीज के खिलाफ किंग्स्टन में खेले गए चौथे एवं अंतिम टेस्ट मैच में मार्क वॉ (Mark Waugh) ने 126 और और स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने 200 रनों की पारी खेलकर सीरीज को 1-1 से बराबर कराया। यह दोनों भाइयों के टेस्ट करियर का सबसे यादगार लम्हा था। वे इस बारे में खुलासा भी कर चुके हैं। (Mark Waugh & Steve Waugh Birthday)

रनर के रूप में रन आउट हुए मार्क, स्टीव 99 पर रह गए नाबाद:

मार्क वॉ

साधारणतः दोनों भाइयों के बीच में विकेट के बीच में अच्छी समझदारी थी। लेकिन 03 फरवरी 1995 को पर्थ में इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे टेस्ट मैच में मजेदार वाकया हुआ। स्टीव वॉ जब 99 पर खेल रहे थे तो अंतिम बल्लेबाज मैकडरमोट चोटिल थे जिस कारण उनके भाई मार्क वॉ रनर के रूप में दूसरे छोर पर थे। 14 रनों की साझेदारी के बाद मार्क नॉन स्ट्राइक पर रन आउट हो गए, जिस कारण स्टीव 99 रन पर नाबाद रह गए। इससे पहले 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ मार्क वॉ भी 99 पर ऑउट हो चुके थे।

ऑस्ट्रेलिया vs न्यूजीलैंड ( वर्ल्ड कप 1996, क्वार्टरफाइनल):

मार्क वॉ (vs न्यूजीलैंड, 1996)

11 मार्च 1996 को चेन्नई की गर्म दिन में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड कप का क्वार्टरफाइनल मुकाबला खेला जा रहा था। क्रिस हैरिस की 130 रनों की पारी की बदौलत कीवी टीम बोर्ड पर 286 रन लगा चुकी थी। उस समय 250 से अधिक का स्कोर चेज करना टेढ़ी खीर था। मार्क वॉ (Mark Waugh) ने 112 गेंदों पर 110 रन बनाकर अपने टीम को जीत दिलाते हुए फाइनल में पहुँचाया।

मजेदार बात यह रही कि उन्होंने अपने भाई स्टीव वॉ के साथ मिलकर चौथे विकेट के किए 86 रनों की शानदार साझेदारी की। 50 ओवर फील्डिंग करने के और कुछ देर बल्लेबाजी करने के बाद मार्क वॉ काफी थके लग रहे थे लेकिन भाई के क्रीज पर आने के बाद उनका मनोबल बढ़ गया और उन्होंने उनके साथ शानदार साझेदारी की और टीम को जीत दिलाई। (Mark Waugh & Steve Waugh Birthday)

लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप 1999 की विजेता ट्रॉफी:

लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप ट्रॉफी के साथ स्टीव वॉ, मार्क वॉ और शेन वार्न

साल 1999 में स्टीव वॉ (Steve Waugh) ऑस्ट्रेलियाई टीम का नेतृत्व कर रहे थे। 1996 के स्टार ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एवं उनके छोटे भाई मार्क वॉ (Mark Waugh) भी उस टीम का हिस्सा थे।टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड और पाकिस्तान से हारने के बाद उसके पास गलती की कोई गुंजाइश नहीं बची थी। भारत और जिम्बाब्वे को हराने के बाद उनके सामने दक्षिण अफ्रीका सबसे बड़ी चुनौती थी। (Mark Waugh & Steve Waugh Birthday)

दक्षिण अफ्रीका द्वारा निर्धारित 272 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम 48 रनों पर 3 विकेट खो चुकी थी। लेकिन स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने दबाव झेलते हुए 110 गेंदों पर 120 रनों की शानदार पारी खेलते हुए अपने टीम को जीत दिलाई। उनकी यह पारी वनडे क्रिकेट की सर्वश्रेष्ठ पारियों में गिनी जाती है।

एलिमिनेशन के दरवाजे पर खड़ी ऑस्ट्रेलियाई टीम के विश्व विजेता बनने की कहानी के ये दोनों भाई गवाह हैं। उन्होंने लॉर्ड्स मैदान में पाकिस्तान को आसानी से हराकर वर्ल्ड कप ट्रॉफी उठाई। इस तरह से ये वर्ल्ड कप ट्रॉफी जीतने वाले इकलौते जुड़वा क्रिकेटर भाई भी बन गए। (Mark Waugh & Steve Waugh Birthday)

यह भी पढ़ें: 02 जून: टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले पहले जुड़वा भाइयों की जोड़ी का जन्मदिन

Category: Cricket Appeal Tags: ,

About नीतिश कुमार मिश्र

नीतिश कुमार मिश्र (Neetish Kumar Mishra) CRICKHABARI.COM के फाउंडर हैं। वे साल 2016 से खेल पत्रकारिता की दुनिया में सक्रिय हैं और अब तक एक हजार से अधिक खबरें लिख चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *