कप्तान के रूप में एक जैसे हैं कोहली और गांगुली – वेंकटेश प्रसाद

By | 10/06/2020

भारतीय टीम के पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad) ने विराट कोहली (Virat Kohli) और सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को कुछ चीजों में एक जैसा बताया है। इन दोनों ने ही भारत की कप्तानी संभाली है। इसी के ऊपर इस गेंदबाज ने दोनों खिलाड़ियों की कुछ खास विशेषताओं का भी उल्लेख किया है।

सौरव गांगुली की कप्तानी में खेलने वाले भारत के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश (Venkatesh Prasad) ने अपनी टीम को कई मैच जितवाए हैं। उन्होंने अपना अंतरराष्ट्रीय कैरियर 1994 में शुरू किया था। तब से अब तक उन्होंने टीम इंडिया के कई पहलू देखे हैं और समय समय पर उनकी आलोचना भी की है।

हाल ही में ‘ टाइम्स ऑफ इंडिया ‘ (Times of India) के साथ हुए इंटरव्यू में प्रसाद ने कोहली और गांगुली की कप्तान के तौर पर तुलना की है। उनका मानना है कि कहीं ना कहीं दोनों कप्तान एक जैसे हैं।क्यूंकि दोनों ने ही ऐसे वक्त में कप्तानी संभाली है जब आसपास का वातावरण बेहद नकारात्मक रहा।

लीडरशिप को लेकर प्रसाद का कहना है कि “गांगुली के पास वो तकनीक थी जिससे वह एक बेहतरीन लीडर और उससे भी अच्छे खिलाड़ी बन पाए। उन्होंने इन दोनों ही क्षेत्रों में कमाल किया और एक मिसाल के तौर पे कायम हुए।” इसके बाद प्रसाद उनकी कमी को भी नजरअंदाज नहीं करते और कहते हैं कि “फिटनेस के मामले में उनमें कुछ कमियां जरूर थीं, लेकिन ऐसा कोई भी नहीं है जिसमें थोड़ी बहुत कमी ना हो।”

“सौरव गांगुली ने टीम का मार्गदर्शन भी किया और सारे अनुभवी खिलाड़ी और नए खिलाड़ियों को वह साथ लेकर चले। उन्होंने उस वक़्त सचिन (Sachin Tendulkar), कुंबले (Anil Kumble), द्रविन (Rahul Dravid) , लक्ष्मण (VVS laxman), आदि खिलाड़ियों के साथ नए खिलाड़ी जैसे हरभजन (Harbhajan Singh), आशीष नेहरा (Ashish Nehra) ज़हीर खान (Zaheer Khan) आदि को भी बखूबी संभाला और यही उस वक़्त जरूरी भी था।”

2003 विश्व कप को याद करते हुए वेंकटेश का कहना है कि “हम उस साल फाइनल में आकर वर्ल्ड कप जीतने से रह गए थे।लेकिन हम फाइनल तक आए , इसके पीछे सौरव की कप्तानी ही थी। ऐसा ही कोहली के साथ भी हुआ। हालांकि सौरव ने कभी अपने इमोशन बाहर नहीं आने दिए और वहीं कोहली अपने गुस्से की कंट्रोल रख कर चलते हैं। लेकिन यह उनका खेलने का तरीका है और यही उनका जोश है जो उन्हें जीतने को कहता है। हां कोहली के चेहरे पर ये झलकता है और गांगुली ने कभी इसे अपनी शकल पर नहीं आने दिया।”

इसके अलावा पूर्व गेंदबाज ने फिलहाल की टीम में किसी लेफ्ट आर्म फास्ट बॉलर के ना होने पर भी बात की है। ये भी कहा है कि – “अगर हमारे पास नहीं है तो कोई बात नहीं लेकिन अगर हों तो अच्छे हों ये जरूरी है। ज़हीर खान और आशीष नेहरा जैसे कई खिलाड़ियों का जिक्र भी उन्होंने अपनी इस बातचीत में किया है।”

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुकट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *