कैफ की बिजली जैसी फील्डिंग बन गई दूसरे के लिए प्रेरणास्रोत: वीवीएस लक्ष्मण

By | 12/06/2020

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket team) के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने इन दिनों अपने साथ खेले या पूर्व खिलाड़ियों की खासियतों के बारे में लगातार लिखने की पहल की। एक पहल के जरिए वीवीएस अपने साथियों और पूर्व खिलाड़ियों का शुक्रिया अदा कर रहे हैं जिनसे उन्हें अपने करियर और जीवन को आकार देने में मदद मिली। अब उन्होंने मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) से जुड़ी कई बातों का जिक्र किया।

इस श्रृंखला में लक्ष्मण ने पिछले दिनों सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), सौरव गांगुली (Sourav Ganguly), गौतम गंभीर (Gautam Gambhir), राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid), युवराज सिंह (Yuvraj Singh), एमएस धोनी (MS Dhoni), वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag), हरभजन सिंह (Harbhajan Singh), अनिल कुंबले (Anil Kumble), जहीर खान (Zaheer Khan), जवागल श्रीनाथ (Javagal Srinath) और आशीष नेहरा (Ashish Nehra ) की प्रशंसा कर चुके हैं।

कैफ ने यूपी का नाम रोशन किया….

अपने इंस्टाग्राम (Instagram) पोस्ट और ट्वीट (Twitter) में वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif ) की सराहना करते हुए कहा कि “पूर्व मध्य क्रम के बल्लेबाज ने भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के क्रिकेटरों की एक नई पीढ़ी को प्रेरित किया।” उन्होंने लिखा” कैफ भारत के मजबूत बुनियादी ढांचे के प्रोडक्ट रहे हैं। मोमहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने उत्तर प्रदेश (UP) की पूरी पीढ़ी को उनकी असुरक्षा से निकालकर उच्चतम स्तर पर खेलने के लिए प्रेरित किया।”

कैफ की बिजली जैसी फील्डिंग ने सबके दिवाना बनाया…

वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) की फील्डिंग की तारीफ करते हुए लिखा “कैफ की बिजली जैसी फील्डिंग जल्द ही अपने आप में मानक बन गई, जिसका हजारों खिलाड़ी अनुकरण करते दिखाई पड़े।”

गौरतलब है कि मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) को आज तक सबसे अच्छे फील्डरों में से एक के रूप में याद किया जाता है, जिसे टीम इंडिया (Team India) ने कभी बनाया है। यूपी के बल्लेबाज के पास सर्कल के अंदर खड़े होने और कैच लेने की क्षमता है, जिससे रन आउट हो सकते हैं और महत्वपूर्ण रन बचाने के लिए डाइव भी लगा सकते हैं। युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के साथ-साथ मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने 2000 के दशक की शुरुआत में मैदान पर भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket Team) के लिए एक पॉजिटिव एनर्जी लाई।

यह भी पढ़ें: युजवेंद्र चहल की गेंद को बोला ‘नो बॉल’, तो क्रिस गेल को अंकल कह कर लिए मजे

कैफ की फील्डिंग की बात करें तो कहा जा सकता है कि भारतीय क्रिकेट के (Indian Cricket) में इतिहास में पूर्व कप्तान अजहरुद्दीन (Mohammad Azharuddin) के बाद अगर कोई बेहतरीन फील्डर रहा, तो वह मोहम्मद कैफ ही रहे और उनके अंदाज और बेहतरीन कैचों के चलते ही मीडिया ने उन्हें “रबर ब्वाय” की संज्ञा दी थी।

फील्डिंग के साथ-साथ कैफ ने बल्ले से भी भारतीय टीम को मजबूत बनाया। कैफ का बल्ले के साथ सबसे बड़ा योगदान 2002 में लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल में था।लगभग इंग्लैंड के पक्ष में जा चुके इस मैच में, कैफ ने युवराज के साथ 6 वें विकेट के लिए 121 रन की साझेदारी की। युवराज के आउट होने के बाद मोहम्मद कैफ ने दाएं हाथ से बल्लेबाजी करना जारी रखा और भारत को दो विकेट से रोमांचक जीत दिलाई थी।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुकट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *