इंग्लैंड में राष्ट्रगान के दौरान घुटने पर बैठ सकती है कैरेबियाई टीम, डोनाल्ड ट्रंप ने जताई आपत्ति

By | 11/06/2020

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की पुलिस कस्टडी में हुई दर्दनाक मौत के बाद से ही विरोध की आग जल उठी है। अमेरिका (America) की आम जनता से लेकर खेलजगत तक नस्लवाद (Racism) के विरोध में अपनी आवाज बुलंद कर रहा है। इसी कड़ी में क्रिकेट (cricket) में हो रही नस्लवादी टिप्पणी के खिलाफ खिलाड़ियों ने अपना विरोध ऐसा जताया कि आईसीसी को सामने आकर अपनी सफाई देनी पड़ी।

टी-20 विश्व कप जीतने वाली वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम (West Indies Cricket Team) के कप्तान डैरेन सैमी (Darren Sammy) और स्टार बल्लेबाज क्रिस गेल (Chris Gayle) जैसे अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों ने आगे आकर कथित नस्लीय उत्पीड़न के आरोप लगाए लेकिन इस टीम ने अपने विरोध को अगले चरण में ले जाने का फैसला लिया है।

इस तरह विरोध कर सकती है कैरेबियाई टीम…

क्रिकेट जगत में फैले नस्लवाद पर अपनी आवाज बुलंद करने वाली वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम (West Indies Cricket Team) अब विश्व के सामने अपना विरोध जताने जा रही है। कैरेबियाई टीम अपने विरोध को सोशल मीडिया (Social media) से जमीन पर लाने के लिए तैयार है। कोरोना के खतरे के बावजूद कैरेबियाई टीम इंग्लैंड में 3 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने पहुंच चुकी है। कैरेबियाई टीम के कप्तान जेसन होल्डर (Jason Holder) ने कहा है कि उनकी टीम रंगभेद के खिलाफ शांतिपूर्ण विरोध के लिए मैच के दौरान मैदान में घूटने टेकने पर विचार कर रही है।

यह भी पढ़ें: टी20 वर्ल्ड कप जैसे फैसले में वक़्त लेना जरूरी- केन रिचर्डसन

जेसन होल्डर (Jason Holder) ने कहा “अश्वेत लोगों की जिंदगी का भी महत्व है। अमेरिका में हुए जॉर्ज फ्लायड (George Floyd) की मौत और विश्व भर में व्याप्त नस्लवाद के खिलाफ हम अपना शांतिपूर्ण विरोध करने की योजना बना रहे हैं।”

अमेरिका में कई फुटबॉल खिलाड़ियों ने पहले ही टेके हैं घुटने….

गौरतलब है कि इस वक्त पूरा अमेरिका विरोध की आग में सुलग रहा है। अमेरिका में जारी इस श्वेत-अश्वेत की जंग को लोगों ने अब खत्म करने की ठानी है और इसमें उनका साथ बड़े – बड़े फिल्मी सितारों से लेकर खेलजगत की नामी गामी हस्तियां भी दे रही हैं। अमेरिका में कई फुटबॉलर्स मैच से पहले राष्ट्रगान के दौरान घुटने पर बैठकर विरोध जता चुके हैं।

डोनाल्ड ट्रंप ने बताया राष्ट्रध्वज का अपमान….

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) इन दिनों अपने देश की स्थिति पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से बच रहे हैं। अमेरिका में जारी हिंसक प्रदर्शन के खिलाफ अमेरिकी पुलिस तो साथ दे रही है लेकिन सेना ने ट्रंप का साथ देने से मना कर दिया। अपने देश में हुए ऐसे अमानवीय घटना पर तो उन्होंने कुछ नहीं कहा लेकिन खिलाड़ियों के घुटने टेकने पर उन्होंने अपनी नाराजगी जताई है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) ने फुटबॉलरों द्वारा घुटने पर बैठने को राष्ट्रध्वज का अपमान बताया था।

ट्रंप के साथ-साथ अमेरिकी फुटबॉल फेडरेशन ने भी इस पर प्रतिबंध लगा दिया है। यूएस सॉकर ने कहा कि “रंगभेद सही नहीं है, लेकिन अगर राष्ट्रगान के दौरान घुटनों पर कोई खिलाड़ी बैठता है तो उसे सजा दी जाएगी।”

आपको बता दें कि 26 मई को धोखाधड़ी के एक मामले में जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd)को गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ के दौरान एक पुलिस अफसर ने फ्लॉयड को सड़क पर ही गिरा दिया था और अपने घुटने से उसकी गर्दन को करीब 8 मिनट तक दबाए रखा। इस कारण उनकी मौत हो गई थी। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

जॉर्ज की मौत के बाद अमेरिका में श्वेत से लेकर अश्वेत, बुजुर्ग से लेकर बच्चे तक सड़कों पर आकर अपने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नस्लवाद के खिलाफ एक साथ लड़ रहे हैं।

Hindi Cricket News, Dream 11 Prediction और मैच रिजल्ट्स की खबरों के लिए CRICKHABARI के टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें। हमें फेसबुकट्विटर, Pinterest, और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *