15 नवम्बर को इस दिग्गज खिलाड़ी पर लगा बैन हो जाएगा समाप्त, जल्द ही करेगा भारतीय टीम में वापसी

भारतीय टीम के उभरते युवा खिलाड़ी पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) पर लगा बैन इसी 15 नवंबर को समाप्त होने वाला है। इसके बाद वो जल्द ही भारतीय टेस्ट टीम में वापसी कर सकते हैं। हालांकि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अभ्यास मैच में चोटिल होने के बाद उनकी अनुपस्थिति में मयंक अग्रवाल ने टीम में अपनी जगह पक्की कर ली है।

BCCI द्वारा पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) पर प्रतिबंधित दवाई लेने के कारण 8 महीने का बैन लगाया गया था। सैयद मुश्ताक़ अली टी20 ट्रॉफी के दौरान उनके यूरिन सैम्पल की जाँच रिपोर्ट आई जिसमें पता चला कि उनके यूरिन में टेराबुलीन की मात्रा पाई गई है। हालांकि डॉक्टर के सलाह पर ही उन्होंने फरवरी माह में खाँसी की दवा के रूप में इसे प्रयोग किया था। लेकिन वाडा के नियमानुसार टेराबुलीन प्रतिबंधित पदार्थ है।

इसी लापरवाही के कारण पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) पर BCCI ने 8 महीने का प्रतिबंध लगाया था। यह बैन 22 फरवरी से शुरू किया गया था क्योंकि उनका यूरिन सैम्पल इसी तारीख को लिया गया था, जिसकी रिपोर्ट 2 महीने बाद आई थी। बैन लगने के बाद से ही पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) क्रिकेट की दुनिया से एकदम दूर हैं।

बीसीसीआई द्वारा पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) पर लगाया गया बैन 15 नवंबर को खत्म हो जाएगा। इसके बाद वे अपनी खोई फिटनेस वापस पाने के लिए बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु के साथ रहकर ट्रेनिंग करेंगे। पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) जल्द भारतीय टीम में वापसी कर सकते हैं, क्योंकि टेस्ट क्रिकेट में उनके आंकड़े शानदार हैं।

पृथ्वी (Prithvi Shaw) ने अब तक भारत के लिए 2 टेस्ट मैचों में 118.50 की औसत और 94.05 की शानदार स्ट्राइक रेट से 237 रन बनाए हैं। जिसमें 1 शतक तथा 1 अर्धशतक शामिल है। वहीं 17 फर्स्ट क्लास मैचों में 60.93 की शानदार औसत से 1767 रन बनाए हैं। इसमें 8 शतक तथा 8 अर्धशतक शामिल है।

शॉ (Prithvi Shaw) ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट मुकाबला 12 नवंबर 2018 को वेस्टइंडीज खिलाफ राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम ने खेला था। इन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भी भारतीय टीम में शामिल किया गया था, लेकिन चोट की वजह से वे टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *