एमएस धोनी के संन्यास पर रवि शास्त्री ने कहा, “जो लोग जूते के फीते तक नहीं बांध सकते वो भी…”

By | 29/10/2019

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के बाद महेंद्र सिंह धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लगातार दूर है। ऐसा माना जा रहा था कि विश्व कप 2019 के बाद धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। परंतु उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया। जिसके बाद आए दिन उनके संन्यास की खबरें आती रहती है। दरअसल कुछ ऐसे दिग्गज खिलाड़ी हैं। जिनका ऐसा मानना है कि धोनी को अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देना चाहिए।

ऐसे में टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने धोनी की आलोचना करने वाले लोगों के बारे में कहा कि जो लोग धोनी की आलोचना कर रहे हैं और उनके क्रिकेट के भविष्य पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। उनमें से आधे लोग भी अपने जूते के फीते भी अच्छी तरीके से बांध नहीं सकते हैं और वह धोनी के भविष्य को लेकर बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि धोनी के लेकर किसी भी तरह को राय देना उनके प्रति असम्मान दिखाता है।

भारतीय कोच ने कहा जिस खिलाड़ी ने भारत के लिए 15 साल के के खेला हो। उसे यह नहीं पता होगा कि उसे क्या और कब करना चाहिए। जब वह टेस्ट क्रिकेट से रिटायर हुए थे। तब उन्होंने क्या किया था। उन्होंने यही फैसला किया था कि यह समय रिद्धिमान साहा को विकेटकीपिंग करवाने का सही समय है‌। वह उस वक्त सही थे और जब टीम की बात आती है तो वह हमेशा अपने विचार रखने को तैयार रहते हैं।

रवि शास्त्री ने आगे कहा कि अभी कुछ दिन पहले ही रांची टेस्ट मैच के अंतिम दिन वह ड्रेसिंग रूम में आए और उन्होंने शाहबाज नदीम से बातचीत की जो कि अपने घरेलू मैदान पर अपना डेब्यू कर रहा था। इससे बेहतर शाहबाज नदीम के लिए प्रेरणा क्या हो सकता है। धोनी ने अपने खेल में यह अधिकार पाया है कि वह खुद यह निर्णय ले कि उसे कब अलविदा कहना चाहिए। अब इस बहस को समाप्त कर देना चाहिए।

मुख्य कोच ने आगे कहा आधे से ज्यादा लोग महेंद्र सिंह धोनी पर बस यही बोल रहे हैं कि वह मैदान पर भारतीय टीम की जर्सी में नहीं दिखेंगे। उन्हें यह देखना चाहिए कि धोनी ने देश के लिए क्या उपलब्धियां हासिल की है। आखिर लोगों को जल्दी किस बात की है। वह संन्यास क्यों लें। शायद उनके पास बात करने के लिए और कोई भी मुद्दा नहीं है। जो भी धोनी को जानते हैं, वो यह जानते हैं कि धोनी जल्द ही इस खेल से दूर हो जाएंगे तो फिर इसे जब होना है, उस समय होने दो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *