युवराज सिंह के पहले शतक के बाद उनके छक्के मारने पर लगा दी गई थी रोक, पढ़ें वो मजेदार किस्सा

भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में जब भी महान ऑलराउंडरों का नाम लिया जाता है तो उसमें युवराज सिंह का नाम सबके जुबान पर जरूर आता है। युवराज सिंह वर्ल्ड टी20 2007 और वर्ल्ड कप 2011 के मैन ऑफ द सीरीज थे। उन्होंने दोनों टूर्नामेंट में शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन किया था।

युवराज सिंह ने 13 साल की अवस्था में पंजाब के अंडर-16 टीम की ओर से अपना क्रिकेट करियर शुरू किया था। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के खिलाफ डेब्यू किया था। इसके बाद वे पंजाब अंडर-19 टीम का हिस्सा बने और हिमांचल प्रदेश के खिलाफ पहला मैच खेला। युवराज सिंह ने अपना फर्स्ट क्लास करियर साल 1997 में उड़ीसा के खिलाफ शुरू किया था।

युवराज सिंह ने साल 1999-2000 के अंडर-19 वर्ल्ड कप में मोहम्मद कैफ की अगुवाई वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन की बदौलत वे मैन ऑफ द सीरीज भी बने थे। जिसके बाद उनका चयन राष्ट्रीय टीम में हुआ।

युवराज सिंह को साल 2000 में आईसीसी नॉकआउट ट्रॉफी (अब चैंपियंस ट्रॉफी) के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया। उन्हें पहले क्वार्टर-फाइनल मुकाबले में खेलने का मौका मिला था। युवी ने अपने पहले ही मैच में 80 गेंदों पर 84 रनों की शानदार पारी खेलकर टीम में अपनी जगह पक्की कर ली थी।

जब युवराज सिंह के छक्के लगाने पर लगा दी गई थी रोक:

युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह उनको लेकर नवजोत सिंह सिद्धू के पास लेकर गए थे, लेकिन सिद्धू ने उन्हें मना कर दिया। इसके बाद योगराज ने उनका दाखिला बिशन सिंह बेदी के क्रिकेट एकेडमी में कराया था। पहले बिशन सिंह बेदी की क्रिकेट एकेडमी दिल्ली में हुआ करती थी, लेकिन गर्मी के कारण उसे हिमांचल प्रदेश में शिफ्ट कर दिया गया था।

हिमाचल में अपने क्रिकेट ग्राउंड पर खेलते हुए युवराज सिंह ने अपने जूनियर क्रिकेट करियर का पहला शतक लगाया था। इस मैच के दौरान युवराज सिंह ने कई छक्के लगाए थे, जिस वजह से गेंद सीधे घाटी के नीचे चली जाती थी। बार-बार गेंद गायब होने की वजह से बिशन सिंह बेदी ने युवराज सिंह के छक्का लगाने पर रोक लगा दी थी। इसके बाद बेदी ने छक्का लगाने पर आउट का नियम लागू कर दिया था।

यह भी पढ़ें: सेमीफाइनल मैच में रोहित शर्मा तोड़ सकते हैं ये 4 बड़े वर्ल्ड रिकॉर्ड, सचिन और संगकारा छूट जायेंगे पीछे

 

Category: Indian Cricket Team Latest Cricket News Tags:

About दीनदयाल मौर्य

दीनदयाल मौर्य (Deendayal Maurya) CRICKHABARI.COM के मुख्य संपादक के रूप में कार्यरत हैं। वे साल 2017 से खेल पत्रकारिता की दुनिया में सक्रिय हैं। उन्हें क्रिकेट मैचों का विश्लेषण करने का अच्छा अनुभव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *